कोलकाता: भारत की टेस्ट टीम के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ने शनिवार को कहा है कि वह नंबर-4 पर बल्लेबाजी करना पसंद करते हैं. नंबर-4 वह स्थान है, जिसे लेकर सीमित ओवरों में भारतीय क्रिकेट में लंबे समय से अच्छे बल्लेबाज की तलाश जारी है. विश्व कप में भारत सेमीफाइनल में हार कर बाहर हो गया और पूरे टूर्नामेंट में नंबर-4 का स्थान चर्चा का बिन्दु रहा. न ही विजय शंकर और न ही ऋषभ पंत इस नंबर पर अपनी छाप छोड़ पाए.

रहाणे ने यहां बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) के वार्षिक अवार्ड समारोह के मौके पर कहा, "रोचक बात है कि, पुरस्कर वितरण में मेरा नंबर चार है.. मैं नंबर-4 पर बल्लेबाजी करना पसंद करता हूं. यह मेरा पसंदीदा स्थान है."

दो टेस्ट मैचों की सीरीज
रहाणे सीएबी के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर हिस्सा ले रहे थे. भारत को विंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है. इस सीरीज में भारत को पसंदीदा टीम माना जा रहा है, लेकिन रहाणे ने कहा है कि यह सीरीज आसान नहीं होगी.


मैं तैयार हूं
दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, "हम सभी जानते हैं कि वह खतरनाक और हैरान करने वाली टीम है. मैं वेस्टइंडीज के खिलाफ खेलने को तैयार हूं."

मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दूंगा
रहाणे ने कहा, "यह अहम है कि हम उनकी इज्जत करें और अपना खेल खेलें, जिस तरह से खेलते आ रहे हैं, खासकर टेस्ट क्रिकेट में. मेरे लिए यह जरूरी है कि मैं अपना सर्वश्रेष्ठ दूं. मेरा ध्यान हमेशा से टीम में अपना योगदान देने पर होता है."
रहाणे ने एनसीए में अपने आर्दश राहुल द्रविड़ के साथ अभ्यास करने पर भी बात की. उप-कप्तान ने कहा, "मैं बेंगलुरू में इसलिए अभ्यास कर रहा था, क्योंकि मुंबई में इस समय भारी बारिश हो रही है. मैं राहुल द्रविड़ के साथ अभ्यास करना चाहता था. मैं हमेशा से उनको देखता आया हूं, वह मेरे रोल मॉडल खिलाड़ियों में से एक हैं. मैं इस बात से खुश हूं कि वह इस समय बेंगलुरू में हैं. वहां मैं अपनी फिटनेस पर ध्यान दे रहा हूं."

टेस्ट सीरीज अब खास
विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप पर रहाणे ने कहा, "यह अच्छी चीज है. हर टेस्ट मैच और हर टेस्ट सीरीज अब खास है. इस प्रारूप को लेकर सबसे अच्छी बात यह है कि आपको हर दिन अपने रूटीन के हिसाब से काम करना होता है."