सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव आज मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र से अपना नामांकन कराएंगे। इस दौरान उनके साथ पुत्र सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भी रहेंगे। पिता-पुत्र रविवार शाम सैफई पहुंच गए हैं और यहीं से सीधे मैनपुरी के लिए रवाना होंगे। अखिलेश ने दावा किया कि इस चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन रिकॉर्ड वोटों से जीत दर्ज करेगा। साथ ही मुलायम सिंह की जीत देश की सबसे बड़ी जीत होगी।

समाजवादी पार्टी के टिकट पर मुलायम एक बार फिर से मैनपरी से चुनाव लड़ रहे हैं। नामांकन कराने के लिए रविवार शाम वह सैफई पहुंच गए। इसके कुछ देर बाद अखिलेश यादव भी सैफई आए। अखिलेश ने अपने आवास के बाहर पहले से मौजूद पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं से मुलाकात की और गठबंधन के प्रत्याशियों को जिताने की अपील की। उन्होंने कहा कि पहले चरण में ही भाजपा के बड़े नेताओं की जनसभा में सैकड़ों कुर्सियां खाली दिखाई दे रही है। इसी से अंदाजा लगा सकते हैं कि अबकी बार पहले चरण से ही भाजपा के प्रत्याशियों की कुर्सियां भी खाली रह जाएंगी। 

भाजपा इधर-उधर की बातें करके जनता को बरगला रही है। पार्टी के बड़े नेता भी सरकार के पांच साल का हिसाब नहीं दे पा रहे हैँ। गाजियाबाद को स्मार्ट सिटी बताने वाले केंद्र सरकार के बड़े नेता वहां पीने के पानी की व्यवस्था तक मुहैया नहीं करा पाए।। सरकार के पास पांच साल की एक भी उपलब्धि बताने लायक नहीं है।