नई दिल्ली: पूर्वी दिल्ली से बीजेपी उम्मीदवार गौतम गंभीर ने शुक्रवार को कहा कि आम आदमी पार्टी अगर साबित कर दे कि उनकी प्रतिद्वंद्वी आप उम्मीदवार आतिशी मार्लेना के खिलाफ बांटे गये कथित अपमानजनक पर्चे से उनका लेनादेना है तो वह सार्वजनिक रूप से फांसी लगा लेंगे.

पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि अगर आम आदमी पार्टी आरोपों को साबित नहीं कर पाती तो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को राजनीति छोड़ देनी चाहिए.

गंभीर ने ट्वीट किया, ‘अरविंद केजरीवाल और आप को तीसरी चुनौती. अगर वह साबित कर सकते हैं कि मेरा इस पर्चा विवाद से कोई लेनादेना है तो मैं सार्वजनिक रूप से फांसी लगा लूंगा. अन्यथा अरविंद केजरीवाल को राजनीति छोड़ देनी चाहिए. कबूल है?’ 

बीजेपी ने पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट के निर्वाचन अधिकारी के. महेश से गंभीर के खिलाफ आरोपों के मामले में पुलिस जांच की मांग की है. मामला आतिशी को निशाना बनाकर अभद्र भाषा में लिखे गए पर्चों के बांटने से जुड़ा है.

दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता हरीश खुराना ने बताया कि कृष्णा नगर से बीजेपी पार्षद संदीप कपूर ने जिला मजिस्ट्रेट और निर्वाचन अधिकारी को शिकायत कर मांग की है कि पुलिस से इस मामले की जांच कराई जाए. निर्वाचन अधिकारी पहले ही पुलिस से इस मामले में शिकायत दर्ज करने को कह चुके हैं.

गंभीर ने गुरुवार रात को केजरीवाल, उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया तथा आतिशी को मानहानि के नोटिस भेजकर आरोप वापस लेने, बिना शर्त माफी मांगने या कानूनी कार्रवाई का सामना करने को कहा था.

क्या आरोप लगाया है आतिशी ने? 
आतिशी ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिसोदिया की मौजूदगी में आरोप लगाया था कि उनके खिलाफ ‘अभद्र और अपमानजनक’ भाषा वाले पर्चों के बांटने में गंभीर की भूमिका है.  गंभीर ने आरोपों को खारिज कर दिया था और कहा था कि अगर वह दोषी पाये गए वह चुनावी मुकाबले से हट जाएंगे. आतिशी ने इस संदर्भ में दिल्ली महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई है.