इकोनॉमी से लेकर प्रशासन तक, 4 साल में योगी सरकार की बड़ी उपलब्धियां 

लखनऊ
 उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार शनिवार को अपने चार साल पूरे कर रही है। 19 मार्च 2017 को योगी आदित्यनाथ ने आबादी के हिसाब से देश के सबसे राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। इन चार वर्षों में उत्तर प्रदेश में बहुत परिवर्तन हुए हैं। चार साल में प्रदेश को दंगा रहित करने से लेकर विकास के क्षेत्र में भी उल्लेखनीय कार्य किए गए। इस दौरान पूरी दुनिया और देश के साथ ही प्रदेश को कोरोना महामारी के अभूतपूर्व संकट का सामना करना पड़ा। दूसरे राज्य से लौट रहे प्रवासियों और बढ़ते कोरोना केस के बीच राज्य सरकार जिस तरह से निपटी उसकी हर ओर प्रशंसा हुई। चार साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी उपलब्धियां गिनाईं। 

देश की नंबर दो इकोनॉमी वाला राज्य बना योगी सरकार के चार साल के कार्यकाल में सबसे बड़ी उपलब्धि राज्य को सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाले राज्य के रूप में आगे बढ़ाने के लिए रास्ता तैयार करना रहा है। चार साल पहले जहां उत्तर प्रदेश को बीमारू राज्य के रूप में पहचाना जाता था वहीं अब यह सक्षम राज्य की ओर बढ़ा है। उत्तर प्रदेश अब देश की दूसरने नंबर की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित है। सीएम योगी ने कहा कि पहले जहां यूपी में कोई आना नहीं चाहता था लेकिन अब राज्य में निवेश हो रहा है। इसके लिए चार सालों में माहौल बनाया गया। आज यूपी में सकारात्मक माहौल है। 2015-16 में राज्य की जीडीडी 10.90 लाख करोड़ थी लेकिन आज राज्य की जीडीपी 21.73 लाख करोड़ है। अब यह देश की दूसरी अर्थव्यवस्था वाला राज्य है। प्रति व्यक्ति आय दोगुनी 2017 में योगी आदित्यनाथ ने राज्य की कमान संभाली। उससे पहले राज्य का बजट 2 लाख करोड़ हुआ करता था जो इस बार साढ़े पांच लाख करोड़ रहा। 

  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि राज्य में प्रति व्यक्ति आय चार वर्षों में दोगुनी हुई है। प्रति व्यक्ति आय 2015-16 में 47,116 रुपये थी जो बढ़कर अब प्रतिव्यक्ति 94,495 रुपये है। लाखों युवाओं को रोजगार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बताया कि सरकार ने युवाओं के रोजगार के लिए बहुत काम किया है। 4 लाख से ज्यादा युवाओं को नौकरी उनके कार्यकाल में दी गई है। राज्य में निवेश के चलते रोजगार के अवसर बढ़े हैं और 35 लाख युवाओं को इससे नौकरी मिली है। एमएसएमपी के तहत 1.80 करोड़ लोगों को रोजगार दिया गया। 2017 में जहां राज्य में बेरोजगारी दर 17 प्रतिशत हुआ करती थी वह अब घटकर 4.1 प्रतिशत रह गई है। यही नहीं गरीबों और कमजोर तबकों के लिए भी उनकी सरकार ने खूब काम किया है। प्रधानमंत्री आवास योजना के मामले में यूपी नंबर वन है।
 

Source : Agency

15 + 11 =

Name: धीरज मिश्रा (संपादक)

M.No.: +91-96448-06360

Email: [email protected]