यह खबर सभी को सरप्राइज कर सकती है लेकिन वोदका लवर्स के लिए सबसे अधिक आश्चर्य देने वाली है। क्योंकि 'चार बोतल वोदका...' गाने पर झूमते हुए एक के बाद एक वोदका पैग गटकनेवाले लोगों को यह पता होगा कि उनकी पसंदीदा वोदका उन्हें क्या-क्या फायदे पहुंचाती है। आइए, इस वक्त उन्हीं फायदों पर नजर डाल लेते हैं...
मेल और फीमेल्स सभी के बीच लोकप्रिय वोदका
-बेस्वाद, बेरंग और बिना खुशबू लिए ट्रांसपैरंट वोदका महिलाओं और पुरुषों के बीच खासी लोकप्रिय है। ऑफिस की वीकेंड पार्टी हो या दोस्तों संग आउटिंग यह बेरंग वोदका हर इवेंट में रंग घोल देती है। बस इसके साथ भी लिमिट वाली बात जरूर लागू होती है। अगर आप एक बार में मात्र 35 से 40 मिली लीटर वोदका लेते हैं तो यह आपके लिए किसी हेल्थ टॉनिक की तरह काम कर सकती है...

डेली ड्रिंकर्स क्या करें?
-वहीं, अगर आप डेली ड्रिंकर हैं और हर दिन पीना चाहते हैं तो आपको अपने डॉक्टर से जरूर कंसल्ट करना चाहिए। ताकि आप वोदका की उतनी मात्रा का सेवन करें जो आपके लिवर और किडनी का बैंड ना बजाए...। खैर, हम बात करते हैं सीमित मात्रा में ली गई वोदका के हेल्थ बेनिफिट्स के बारे में...

वेट कंट्रोल में लाभकारी
-अगर आप ऐसी ड्रिंक की खोज में हैं, जिसे आप इंजॉय भी करें और आपका वजन भी कम हो जाए तो वोदका आपके लिए बेस्ट चॉइस हो सकती है। क्योंकि वोदका में कैलरीज बहुत कम और कार्बोहाइड्रेट बिल्कुल नहीं होता है।
-हालांकि कुछ लोग वोदका में दूसरी हाई शुगर ड्रिंक्स मिलाकर लेते हैं, अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको वोदका के कारण वजन कम होने का सुख नहीं मिल पाएगा। यदि आप वोदका में कुछ और ऐड करके लेना ही चाहते हैं तो कोशिश करें कि आप शुगर फ्री ड्रिंक को इसमें मिलाएं।

तनाव कम करने में असरदार
-सीमित मात्रा में एल्कोहॉल के सेवन से तनाव कम करने में मदद मिलती है, ऐसा बड़े स्तर पर माना जाता है और कई स्टडीज में भी यह बात साबित हो चुकी है। लेकिन बात जब सिर्फ वोदका की हो तो आपको बता दें कि वर्ष 2009 में 'द जर्नल ऑफ एबनॉर्मल सायकॉलजी' में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, स्ट्रेस से जूझ रहे लोगों के दो ग्रुप बनाकर एक ग्रुप को वोदका युक्त टॉनिक दिया गया।
-जबकि दूसरे ग्रुप के लोगों को सिर्फ स्ट्रेस से राहत देनेवाला टॉनिक दिया गया। इस दौरान इन दोनों ग्रुप्स के लोगों की ब्रेन स्कैनिंग की गई और देखा गया कि किस ग्रुप के लोगों में स्ट्रेस यानी तनाव तेजी से कम हो रहा है। इस जांच में सामने आया कि जिन लोगों को वोदका युक्त टॉनिक दिया गया था, उनमें तनाव का स्तर काफी तेजी से घटा।

बालों और त्वचा की हेल्थ के लिए अच्छी
-वोदका आपकी स्किन और आपके हेयर को खूबसूरत बनाने में सहायक साबित हो सकती है। क्योंकि वोदका एक एस्ट्रिजेंट की तरह काम करती है। यह किसी भी तरह के बैक्टीरियल और फंगल वायरस को आपके सिर और शरीर की त्वचा पर नहीं पनपने देती है।
-वोदका बालों की त्वचा की क्लिनिंग करने में सहायक है। आप इसे पानी के साथ डायल्यूट करके (पानी में मिलाकर) बाल धोते समय उपयोग कर सकते हैं। शैंपू करने के बाद इस पानी से अपने बालों को धुल लें।
-जिन लोगों को एक्ने की समस्या बहुत अधिक रहती है वे बॉडी मास्क, फेस मास्क इत्यादि में मिलाकर वोदका को अपनी त्वचा पर लगा सकते हैं। ध्यान रखें कि वोदका त्वचा में रुखापन बढ़ाती है। इसलिए जिन लोगों की त्वचा रुखी हो उन्हें त्वचा पर वोदका लगाने से बचना चाहिए।

शानदार ऐंटिसेप्टिक
-आपको जानकर हैरानी हो सकती है लेकिन वोदका एक शानदार ऐंटिसेप्टिक भी है। कभी अचानक लगी चोट का घाव साफ करने या किसी जानवर के काट लेने के बाद इंफेक्शन को रोकने के लिए आप उस घाव को वोदका से धुल सकते हैं।
-ताकि डॉक्टर के पास पहुंचकर पट्टी कराने तक आपके घाव में किसी तरह का अतिरिक्त संक्रमण ना फैले। लेकिन जले हुए स्थान पर वोदका नहीं लगानी चाहिए। साथ ही जिन लोगों की त्वचा बहुत अधिक रूखी हो उन्हें भी त्वचा पर वोदका नहीं लगानी चाहिए।
-क्योंकि यह त्वचा और और अधिक रूखा बनाने का काम करती है। ऐसे में जली हुई त्वचा में जलन असहनीय हो सकती है। साथ ही रूखी त्वचा और अधिक रूखी हो सकती है।

दांत दर्द में लाभकारी
-जब कभी अचानकर दांत में दर्द शुरू हो जाए और कोई पेनकिलर या डॉक्टर पास ना हो तो आप वोदका की सहायता ले सकते हैं। जी हां, दांत दर्द होने पर आप वोदका को माउथवॉश की तरह उपयोग कर सकते हैं।
-दांत दर्द में राहत पाने के लिए आप एक बड़े चम्मच वोदका में थोड़ा-सा दालचीनी पाउडर मिलाएं। तैयार मिश्रण को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में दो से तीन बार मुंह में भरें। एक से दो मिनट इसे अपने मुंह में ही रोककर रखें और फिर कुल्ला कर लें।
-हमने आपको बताया कि वोदका ऐंटिसेप्टिक की तरह काम करती है। ऐसे में यह आपके दांत का दर्द कम करने के साथ ही आपके मुंह से आनेवाली स्मेल को दूर करने का काम भी करेगी। दर्द कम होने पर आप आराम से डेंटिस्ट के पास पहुंचकर अपना इलाज करा सकते हैं।

दिल को मजबूत बनाए रखे
-एक बार फिर बात सही मात्रा यानी केवल 35 से 40 एमएल वोदका लेने पर हार्ट की स्थिति भी ठीक बनी रहती है। हृदय के काम करने के तरीकों में किसी तरह की बाधा उत्पन्न नहीं होती है। क्योंकि सीमित मात्रा में वोदका का सेवन ब्लड फ्लो को बनाए रखने में सहायक होता है।