रायपुर. कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से किए गए लॉकडाउन (Lockdown 5.0) के बाद मजदूरों की घर वापसी का सिलसिला शुरू हुआ. मजदूरों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा रही है, लेकिन पहली बार छत्तीसगढ़ के मजदूरों को बेंगलुरु से लेकर श्रमिक स्पेशल फ्लाइट रायपुर के स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट (Swami Vivekananda Airport, Raipur) पहुंची. फ्लाइट में बेंगलुरु से प्रदेश के 179 मजदूर वापस छत्तीसगढ पहुंचे.आपको बता दें कि बेंगलुरू और हैदराबाद लाॅ यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्रों ने मजदूरों के लिए फ्लाइट टिकट कराई है. वापसी के बाद रायपुर एयरपोर्ट पर सभी मजदूरों की स्क्रीनिंग की गई, फिर उन्हें रवाना कर दिया गया. अब सभी मजदूर अपने गृहग्राम में ही क्वारंटाइन में रहेंगे.

बेंगलुरू से श्रमिक स्पेशल फ्लाइट सुबह 8:00 बजे उड़ान भरकर 9:50 मिनट पर रायपुर एयरपोर्ट पहुंची. फ्लाइट में रायपुर समेत बलौदाबाजार, महासमुंद, जांजगीर-चांपा, पेंड्रा, गौरेला, मरवाही और नारायणपुर के मजदूर वापस लौटे हैं. एयरपोर्ट पर वापस आए सभी मजदूरों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई और स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच भी कराया गया है. मजदूरों के लिए राज्य सरकार द्वारा एयरपोर्ट में विशेष व्यवस्था की गई थी. एयरपोर्ट से उनके गृह जिले तक जाने के लिए बस लगवाई गई थी. भोजन के बाद मजदूरों को उनके गृह जिले के लिए रवाना रायपुर से रवाना कर दिया है. सभी मजूदरों को अफने गृहग्राम में ही क्वारंटाइन किया जाएगा.

पहली बार छत्तीसगढ़ पहुंची श्रमिक स्पेशल फ्लाइट

एयरपोर्ट डायरेक्टर राकेश आर सहाय ने बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब कोई श्रमिक स्पेशल फ्लाइट रायपुर के स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट पहुंची है. उन्होंने बताया कि बेंगलुरु से कुल 179 मजदूर रायपुर पहुंचे हैं. एयरपोर्ट पहुंचने के बाद मजदूरों के गृह जिले जाने की और स्क्रीनिंग की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा ही की गई है. साथ ही उन्होंने बताया कि बेंगलुरु से ही मजदूरों को लेकर एक और फ्लाइट कल 5 जून को दोपहर 12:50 बजे पहुंचेगी. सहाय के मुताबिक एयरलाइंस कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 100 मजदूर कल आने वाली फ्लाइट से रायपुर पहुंचेंगे.