रायपुर : पीड़ितों की मदद के लिए साधन सम्पन्न होना ही जरुरी नहीं, सिर्फ इसके लिए जरूरत होती है जज्बे की। ऐसा ही जज्बा दिखाया है मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत सेमरी के मनरेगा के मजदूरों ने।
    कोरोना संकट काल में जरूरतमंदों की मदद के लिए इस ग्राम पंचायत के मजदूरों ने अपनी-अपनी हैसियत के मुताबिक कोरोना पीड़ितों के मदद के लिए आपस में चंदा एकत्रित किया। देखते ही देखते यह राशि 22100 रूपए हो गई। मजदूरों ने इस राशि को सरपंच श्रीमती ज्योति वर्मा को देते हुए इस बात का आग्रह किया कि यह राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करा दी जाए। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से मुलाकात करने आज पाटन क्षेत्र से आये पंचायत प्रतिनिधियों में शामिल सेमरी की सरपंच श्रीमती ज्योति वर्मा ने उक्त राशि का चेक मुख्यमंत्री को सौंपा।
    मुख्यमंत्री ने सेमरी गांव के मनरेगा के मजदूरों द्वारा कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए प्रदाय की गई इस राशि के लिए उनका आभार जताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट के इस काल में अभी तक किसानों, उद्योगपतियों समाजसेवियों और विभिन्न संगठनों द्वारा सहायता राशि दी गई है। यह पहला मौका है जब कोरोना पीड़ितों के लिए मजदूरों ने अपनी मजदूरी से राशि बचाकर सहयोग किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सेमरी ग्राम के मजदूरों ने दानशीलता की मिसाल पेश की है।