बिलासपुर । नगर निगम बिलासपुर के विकासनगर वार्ड क्रमांक एक की श्रीमती गीता चंद्राकर को अब बहुत खुशी हो रही है, क्योंकि राशन कार्ड नवीनीकरण से उसे फायदा होने वाला है। उसने अपने पति और बच्चों का नाम जोडऩे के लिए आवेदन किया है। उनका नाम राशन कार्ड में जुडऩे से गीता को सात किलो के बदले 35 किलो चावल मिल सकेगा। गीता गरीब रेखा से नीचे जीवन-यापन करती है। वह और उसके पति लोगों के घर में खाना बनाकर अपना गुजारा करते हैं। उसके राशन कार्ड में पति और बच्चों का नाम नहीं जुड़ पाया था, इसलिये उसे महीने में सिर्फ सात किलो चावल मिलते हैं, जो उसके परिवार के लिए पर्याप्त नहीं हैं। उसे बाजार से महंगे दाम पर अतिरिक्त चावल खरीदना पड़ता है। इससे उस पर आर्थिक बोझ पड़ता है। अब राशन कार्ड नवीनीकरण के अभियान में उसे परिवार के अन्य सदस्यों का नाम जोडऩे का अवसर मिल गया है और अब उसे 35 किलो चावल हर माह मिला करेगा।  अटल आवास सकरी निवासी श्रीमती कमला मिंज के पति और तीन बच्चे हैं। वह प्राथमिकता नीला कार्डधारी हितग्राही है। उसके पति का नाम राशन कार्ड से काट दिया गया था। इसलिये उसे सिर्फ 28 किलो चावल मिलते हैं। राशन कार्ड नवीनीकरण अभियान में अपने पति का नाम जोडऩे के लिए आवेदन किया है, जिससे उसे 35 किलो चावल हर माह मिल सकेगा। तालापारा की किन्नर लाली मानिकपुरी और उसकी बहन को अन्त्योदय गुलाबी कार्ड से 35 किलो चावल मिलते थे। उसकी बहन की मौत हो चुकी है। उसने राशन कार्ड नवीनीकरण शिविर राशन कार्ड में संशोधन के लिए आवेदन भरा है। भारत चौक तालापारा निवासी 80 वर्षीय वृद्धा उमा बाई व 70 वर्षीय सुक बाई को 35-35 किलो चावल के साथ ही निराश्रित पेंशन भी मिलता है। दोनों उत्साहपूर्वक अपने राशन कार्ड के नवीनीकरण के लिए शिविर में पहुंचीं। घर की महिला मुखिया होने के नाते सुक बाई ने अपने दो नातिनों, बेटे तथा बहू का नाम जोडऩे के लिए आवेदन किया है। राशन कार्ड नवीनीकरण अभियान में जिले में 4 लाख 90 हजार 944 प्रचलित राशन कार्डों का नवीनीकरण किया जायेगा। अब तक अब तक लगभग डेढ़ लाख कार्डधारी हितग्राहियों ने आवेदन जमा किया है।  यह अभियान 29 जुलाई तक चलेगा, जिसमें एक लाख 22 हजार 323 अन्त्योदय गुलाबी कार्ड, तीन लाख 61 हजार 697 प्राथमिकता (नीला) कार्ड, पांच हजार 858 अन्त्योदय गुलाबी (एकल नि:शुल्क) कार्ड, 406 स्पेशल गुलाबी कार्ड और 651 नि:शक्त जन (हरा) राशन कार्डों का नवीनीकरण किया जायेगा। राज्य शासन द्वारा संशोधित पात्रता के अनुसार  प्राथमिकता वाले परिवारों के एक सदस्य वाले राशन कार्ड पर प्रति माह 10 किलोग्राम खाद्यान्न, दो सदस्य वाले राशनकार्ड पर 20 किलोग्राम प्रतिमाह, तीन से पांच सदस्य वाले राशनकार्ड पर 35 किलोग्राम प्रतिमाह और पांच से अधिक सदस्य वाले राशनकार्ड पर 7 किलोग्राम प्रति सदस्य प्रतिमाह के मान से खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा।