नई दिल्ली | इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन में अपने दूसरे मैच में चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) को 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इस मैच में सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को अंपायर के ऊपर गुस्सा होते हुए देखा गया। यह दूसरा मौका है, जब राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ धोनी ने अपना आपा खोया हो, इससे पहले 2019 में भी इसी टीम के खिलाफ एक बार धोनी का गुस्सा अंपायर पर निकल चुका है। दरअसल मैच के दौरान अंपायर ने राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाज टॉम कुर्रन को पहले आउट दिया और फिर अपना फैसला बदल दिया और तीसरे अंपायर की मदद ली। उस समय राजस्थान रॉयल्स के पास कोई रिव्यू नहीं बचा था। धोनी की पत्नी साक्षी धोनी ने भी अंपायर के इस फैसले को लेकर एक ट्वीट किया, हालांकि उन्होंने बाद में वो ट्वीट डिलीट कर दिया।
राजस्थान रॉयल्स की पारी के 18वें ओवर में टॉम कुर्रन को आउट दिए जाने के बावजूद रिव्यू लेने के अंपायरों के फैसले से धोनी नाखुश दिखे। दीपक चाहर की गेंद पर विकेटकीपर धोनी द्वारा गेंद पकड़े जाने के बाद मैदानी अंपायर सी शम्सुद्दीन ने टॉम कुर्रन को आउट दे दिया। राजस्थान के पास रिव्यू नहीं बचा था और बल्लेबाज पवेलियन लौटने लगा। इसके बाद हालांकि, लेग अंपायर विनीत कुलकर्णी से बात करने के बाद शम्सुददीन को अपनी गलती का अहसास हुआ और उन्होंने तीसरे अंपायर से मदद मांगी। इसके बाद धोनी निराशा में अंपायर से बात करते देखे गए।
टेलिविजन रीप्ले में दिखा की गेंद धोनी के दस्तानों में जाने से पहले टप्पा खा चुकी थी। तीसरे अंपायर ने मैदानी अंपायर का फैसला बदल दिया, जिससे धोनी नाखुश दिखे। इसको लेकर साक्षी धोनी ने ट्विटर पर लिखा था, 'अगर आप टेक्नॉलजी का इस्तेमाल कर रहे हैं, तो इसका सही तरह इस्तेमाल करिए... आउट तो आउट है भले यह कैच हो या फिर एलबीडब्ल्यू।' दरअसल रिप्ले में दिखा कि गेंद धोनी के दस्ताने में आने से पहले टप्पा खा चुकी थी, लेकिन अन्य रिप्ले में यह भी पता चला कि टॉम भले ही कैच आउट नहीं थे, लेकिन गेंद उनके बैट नहीं पैड से लगकर गई थी और वो एलबीडब्ल्यू आउट थे।
टॉम ने 9 गेंद पर 10 रन बनाए। राजस्थान रॉयल्स ने 20 ओवर में सात विकेट पर 216 रन बनाए, जवाब में सीएसके 20 ओवर में 6 विकेट पर 200 रन ही बना सका। धोनी 17 गेंद पर 29 रन बनाकर नॉटआउट लौटे। उन्होंने आखिरी ओवर में लगातार तीन छक्के जड़े, हालांकि तब तक काफी देर हो चुकी थी और मैच सीएसके के हाथ से फिसल चुका था।