जोधपुर। पाकिस्तान की गिरफ्त में दो दिन रहने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन के भारत लौटने पर राजस्थान में भी खूब जश्न मनाया जा रहा है। यूं तो देशभर में अभिनंदन के लौटने की खुशी चरम पर है लेकिन राजस्थान के लोगों का उनसे एक अलग ही जुड़ाव है। वास्तव में अभिनंदन का इस राज्य से एक खास कनेक्शन रहा है।

अभिनंदन का बचपन का डेढ़ साल जोधपुर में बीता। अभिनंदन के पिता एस. वर्तमान एयरफोर्स अफसर 1989 में जोधपुर एयरबेस पर स्क्वाड्रन लीडर के रूप में तैनात थे। तब अभिनंदन 7 साल के थे और उनकी शुरूआती परवरिश जोधपुर में ही हुई। उनके पिता डेजर्ट स्क्वाड्रन में मिग विमान के पायलट थे। वे एयर मार्शल के पद से रिटायर्ड हुए और अब चेन्नई में रहते हैं।

पिता से प्रेरित होकर अभिनंदन ने साल 2004 में भारतीय वायुसेना ज्वाइन किया। खुद अभिनंदन कई बार जोधपुर आ चुके हैं। उनके कई साथी और दोस्त यहां पर स्क्वाड्रन में तैनात हैं। उनके स्वदेश लौटने की खुशी राजस्थान के लोगों में भी देखी गई। प्रदेशभर में हाथ में तिरंगा लिए लोग सड़कों पर उतरे और अपनी खुशी जाहीर की। साथ ही मिठाईयां भी बांटी गई। जयपुर में भी बड़ी संख्या में लोग अमर जवान ज्योती पहुंचे।