नई दिल्ली |अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान खत्म हो गया है. अब वोटों की गिनती जारी है, कई राज्यों के रुझान और नतीजे भी आ गए हैं. डेमोक्रेट्स के उम्मीदवार जो बाइडेन और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप में कांटे की टक्कर चल रही है. काउंटिंग के बीच ही दोनों उम्मीदवारों ने अपनी-अपनी जीत का दावा कर दिया है, साथ ही ट्रंप ने कुछ राज्यों में फ्रॉड होने का आरोप लगाया है. ताजा अपडेट के लिए इस ब्लॉग के साथ बने रहें.
अमेरिका का राष्ट्रपति कौन होगा, इसमें  विस्कॉन्सिन, मिशिगन और पेंसिल्वेनिया जैसे राज्यों का अहम रोल हो सकता है. रॉयटर्स की टैली के मुताबिक, ट्रंप के 213 वोटों के मुकाबले अभी तक बाइडेन को 224 चुनावी वोट मिले हैं. 
अमेरिका में राष्ट्रपति पद के चुनाव की तस्वीर अब तक साफ नहीं हुई है. अमेरिका के कई कड़े मुकाबले वाले राज्यों में पेच अभी भी फंसा हुआ है. वैसे तो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उन्हें चुनौती दे रहे डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बाइडेन दोनों ने अपनी-अपनी जीत की भविष्यवाणी कर दी है, लेकिन नतीजों से पहले ट्रंप का गुस्सा भी सामने आ रहा है. उन्होंने कहा है कि अमेरिकी लोगों से धोखे की कोशिश की जा रही है, जिसे वो सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दे सकते हैं. उधर जो बाइडेन अपने समर्थकों से धैर्य बनाए रखने को कह रहे हैं. 
व्हाइट हाउस की रेस में कांटे की टक्कर चल रही है. मौजूदा स्थिति में जो बाइडेन को 238 और डोनाल्ड ट्रंप को 213 इलेक्ट्रोरल वोट मिले हैं.
डोनाल्ड ट्रंप को सत्ता पर फिर से काबिज होने के लिए पेंसिल्वेनिया की जंग जीतनी ही होगी. उन्होंने 2016 में ऐसा ही किया था. अगर वो वहां जीतते हैं, तो उन्हें 270 वोट हासिल करने के लिए तीन और राज्यों में जीत हासिल करनी होगी. यदि वो पेंसिल्वेनिया में नहीं जीतते हैं तो उन्हें  बाकी बचे पांच राज्यों में क्लीन स्वीप करना होगा.