बेंगलुरु  । भारतीय पुरुष हॉकी टीम के डिफेंडर जर्मनप्रीत सिंह ने कहा है कि कोरोना वायरस का खतरा समाप्त होने के बाद जब खिलाड़ी मैदान पर वापसी करेंगे तो उनका उत्साह कम नहीं रहेगा। जर्मनप्रीत लॉकडाउन के बीच पिछले मैचों की वीडियो फुटेज देख रहे हैं जिससे उन्हें पता चल सके कि उन्हें अपने खेल के किन क्षेत्रों में सुधार करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हॉकी के मैदान पर सफलता हासिल करने के लिए वह और अधिक जुनून के साथ उतरेंगे। जर्मनप्रीत ने कहा, ‘मैं दो साल से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल रहा हूं और खुद को भाग्यशाली समझता हूं कि मुझे हरमनप्रीत सिंह और बीरेंद्र लाकड़ा जैसे अनुभवी खिलाड़ियों के साथ खेलने का मौका मिल रहा है।’
उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन के दौरान मैं काफी बारीकी से अपने पुराने मैचों की वीडियो फुटेज देख रहा हूं और मुझे पता चल चुका है कि मुझे अपने खेल के किन विभागों पर काम करने की जरूरत है। मुझे विश्वास है कि जब मैं ट्रेनिंग पर लौटूंगा तो और अधिक बेहतर खिलाड़ी बनने के लिए अधिक प्रतिबद्ध रहूंगा।’ इस डिफेंडर ने कहा कि मुख्य कोच ग्राहम रीड और सीनियर खिलाड़ियों ने टीम में शामिल युवाओं को मैदान पर खुलकर खेलने की अनुमति दी है।