नई दिल्ली । केंद्र सरकार ने आईसीएमआर के निर्देशों के अनुसार निर्देश जारी किए हैं। इस निर्देश में कहा गया है कि निजी डॉक्टर यदि किसी व्यक्ति के कोरोना टेस्ट के लिए लिखते हैं तो लैब टेस्ट की जांच के लिए मना नहीं कर सकती है। केंद्र सरकार को शिकायत प्राप्त हुई थी कि कई राज्यों में सिर्फ सरकारी डॉक्टरों की सलाह पर ही कोरोना का टेस्ट हो रहा है। केंद्र सरकार ने कहा यह निर्देशों का उल्लंघन है। केंद्र सरकार ने अपने निर्देश में यह भी कहा कि कई राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में निजी लैब पूरी क्षमता के साथ जांच नहीं कर रहे हैं। ऐसी स्थिति पर उन पर कार्रवाई की जा सकती है।