उंगली पर क्यों उठाया था गोवर्धन पर्वत

माँ हमारा पालन-पोषण तो गोवर्धन पर्वत करता है खाने के लिए अन्न सब्जी देता है आंधी तूफान तेज बारिश सभी से हमारी रक्षा करता है फिर तो हमे इंद्रदेव की नहीं उस गोवर्धन पर्वत की पूजा करनी चाहिए। बाल गोपाल पूरी ब्रज भूमि को अहसास करवाते हुए उस साल गोवर्धन पर्वत की पूजा करवाते है इसी बात पर इंद्रदेव कुपित होकर जल देव को ब्रज भूमि ने तेज़ वर्षा करने का आदेश दे देते है।

उंगली पर उठाकर बचाया था जीवन


ब्रज भूमि में जल्द देव की तेज़ वर्षा के कारण चारो तरफ पानी पानी हो जाता है इतना देख कर बाल गोपाल सबको अपना कीमती सामान और पालतू जानवर लेकर गोवर्धन पर्वत का सहारा लेने की सलाह देते है जहा पर बाल गोपाल पूरी गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी अंगुली पर उठा कर के पूरी ब्रज वासियो की इंद्रदेव के प्रकोप से रक्षा करते है।