इंडियन प्रीमियर लीग 2021 का विजेता कौन होगा इसका पता 15 अक्टूबर को सीएसके और केकेआर के बीच होने वाले फाइनल मुकाबले में चल जाएगा। फाइनल तक दोनों ही टीमें कड़ी मेहनत के बाद पहुंची है और अगर सीएसके जीत जाती है तो वो चौथी बार विजेता बनेगी जबकि केकेआर को जीत मिलती है तो वो तीसरी बार खिताबी जीत हासिल करेगी। चेन्नई सुपर किंग्स अब तक अपने धुरंधर कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की अगुआई में तीन बार आइपीएल चैंपियन बनी है तो वहीं कोलकाता को गौतम गंभीर की कप्तानी में ये सफलता मिली थी। 

सीएसके तीन बार तो केकेआर दो बार बन चुकी है चैंपियन

सीएसके और केकेआर के बीच अब तक सिर्फ एक खिताबी जीत का फर्क है। एक तरफ जहां चेन्नई की टीम ने तीन बार ये उपलब्धि हासिल की है तो वहीं दूसरी तरफ कोलकाता के नाम पर ये उपलब्धि दो बार दर्ज है। चेन्नई ने अपने कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की अगुआई में पहली बार 2010 में आइपीएल खिताब जीता था। इस सीजन में सीएसके ने फाइनल में फाइनल में मुंबई इंडियंस को 22 रन से हराया था। इसके ठीक अगले साल यानी साल 2011 में सीएसके एक बार फिर से फाइनल में आरसीबी को 58 रन से हराकर खिताबी जीत हासिल की थी। फिर सीएसके को साल 2018 में तीसरी बार खिताब जीतने का मौका मिला और इस बार धौनी की टीम ने हैदराबाद को फाइनल में 8 विकेट से हराकर ये कमाल किया था। 

कोलकाता की बात करें तो इस टीम ने गौतम गंभीर की कप्तानी में पहली बार साल 2012 में ये कमाल किया था और फाइनल मुकाबले में सीएसके को 5 विकेट से हरा दिया था। वहीं 2014 में एक बार फिर से इस टीम ने चैंपियन बनने का गौरव गौतम गंभीर की कप्तानी में हासिल किया। इस साल केकेआर ने फाइनल में पंजाब किंग्स को तीन विकेट से हराकर ट्राफी अपने नाम की थी।