नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हमारे न्यूज चैनल WION को दिए इंटरव्यू में कहा कि उनकी प्रधानमंत्री बनने की कोई इच्छा नहीं है. गडकरी ने कहा कि वह पूरी तरह से विश्वस्त हैं कि अगली सरकार पीएम मोदी के नेतृत्व में बीजेपी की बनेगी. गडकरी ने यह भी कहा कि एनडीए एक व्यक्ति की सरकार नहीं है और प्रत्येक मंत्री का निर्णय लेने की प्रक्रिया में योगदान होता है.  

केंद्रीय मंत्री ने कई मुद्दों पर बात की. उन्होंने कहा कि 2019 का चुनाव क्षेत्रीय पार्टियों का चुनाव नहीं है क्योंकि पार्टियां एनडीए और यूपीए के खेमे में बंटी हुई हैं. गडकरी ने आगे कहा, "2019 का चुनाव 1996 जैसा नहीं. कई क्षेत्रीय पार्टियां 23 मई को चुनाव परिणाम सामने आने के बाद एनडीए या यूपीए में जाने का निर्णय लेंगी. संयुक्त मोर्चा का कोई भविष्य नहीं है." गडकरी ने विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए इस आरोप से इनकार किया सरकार ने आरबीआई के कामकाज में हस्तक्षेप किया है. उन्होंने WION से कहा कि आरबीआई एक स्वायत्त संस्थान है.  
उन्होंने यह भी जोड़ा सरकार के पास आरबीआई को सलाह देने और लोगों को लाभ पहुंचाने के लिए उसे निर्देश देने का पूरा अधिकार है. गडकरी ने कहा, "हम निर्वाचित प्रतिनिधि हैं. आर्थिक हालात गड़बड़ाने पर लोग हमारे पास आएंगे, ऐसे में चीजों को आवश्यकता पड़ने पर दुरुस्त करना हमारी जिम्मेदारी है." गडकरी ने भोपाल से साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर की उम्मीदवारी का खुलकर बचाव किया. उन्होंने कहा, "साध्वी कांग्रेस द्वारा रचे गए षड़यंत्र का शिकार हुई हैं. वह निर्दोष हैं और निश्चित रूप से जीत हासिल करेंगी."