प्लास्टिक मुक्त नगर अभियान चला रहे है राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवक

 टिमरनी शासकीय महाविद्यालय टिमरनी इकाई द्वारा प्लास्टिक मुक्त नगर अभियान के तहत नगर में प्लास्टिक की थैलियों का प्रयोग नहीं करने हेतु सयंसेवको ने सब्जी विक्रेताओं,फल विक्रेताओं, किराना दुकानदारों व कपड़े की दुकानों पर जाकर प्लास्टिक से होने वाले नुकसान के बारे में समझाया की प्लास्टिक के कणों से कैंसर जैसी घातक बीमारियों का खतरा मनुष्य में बढ़ जाता है जो हमारे जीवन की लिए बहुत ही खतरनाक है। इसलिय उन्हें प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने और ग्राहकों को भी प्लास्टिक का प्रयोग  नहीं करने के लिए प्रेरित करने का कार्य किया गया। इसके साथ ही सयंसेवको ने प्लास्टिक मुक्त नगर हेतु स्लोगन लिखे हुए तख्तियां बनाकर दुकानों पर लगाई गई जिससे कि दुकान पर आने वाले सभी ग्राहक स्लोगन को पढ़कर भी प्लास्टिक  मुक्त नगर अभियान के प्रति स्वयं भी जागरूक हो तथा समाज के और भी लोगों को जागरूक किया जा सके।

इस अभियान में राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी छात्र इकाई प्रो.धर्मेंद्र जमरा एवं छात्रा इकाई के कार्यक्रम अधिकारी सुश्री मीनाक्षी यादव और डॉ.महेंद्र सिंह तड़वाल ने भी प्लास्टिक मुक्त अभियान में दुकानदारों को प्लास्टिक से होने वाले नुकसान के बारे में समझाया और उन्हें दुकानों पर कपड़े की थैलियों का प्रयोग करने के लिए प्रेरित किया तथा ग्राहकों को भी कपड़े की थैली को प्रयोग करने के लिए  प्रेरित करने हेतु दुकानदारों को मार्गदर्शन दिया गया। जिससे कि संपूर्ण नगर को प्लास्टिक मुक्त बनाया जा सके।इस अभियान में राष्ट्रीय सेवा  योजना के स्वयंसेवक प्रखर तिवारी,हरीश गोहिया, राजेश मर्सकोले,रामकृष्ण तंवर,सुमन धुर्वे ,ललिता नागर,सायमा कुरैशी इत्यादि स्वयंसेवकों ने भी दुकानदारों को कपड़े की थैलियों व कागज के लिफाफे का प्रयोग करने के लिए प्रेरित किया ताकि पर्यावरण को बचाया जा सके इसके लिए यह जन जागरूकता अभियान चलाया गया है।