कानपुर। आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मास्टरमाइंड विकास दुबे शुक्रवार सुबह पुलिस एनकाउंटर में मारा गया। पुलिस ने बताया कि विकास को उज्जैन से सड़क के रास्ते कानपुर लेकर जा रही यूपी STF की काफिले की गाड़ी आज सुबह दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इसके बाद विकास दुबे ने भागने की कोशिश की जिसके बाद पुलिस को गोली चलानी पड़ी जिसमें उसकी मौत हो गई। विकास दुबे के एनकाउंटर पर उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पुलिस और युपी सरकार की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान लगाया। अखिलेश ने ट्विट कर कहा कि दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बच गई है।
आपको बता दें कि विकास दुबे को उज्जैन पुलिस ने गुरुवार सुबह गिरफ्तार किया था। सूचना पर कानपुर से पुलिस व एसटीएफ टीम विकास को सड़क मार्ग से शुक्रवार सुबह कानपुर ला ही रही थी। कानपुर पहुंचते ही भौंती हाईवे के पास पुलिस वाहन दुर्घटनाग्रस्त होकर पलट गया। हादसे में वाहन सवार अभियुक्त और पुलिसकर्मी घायल हो गए। इसी दौरान विकास दुबे ने घायल पुलिसकर्मी की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। पुलिस टीम ने पीछा किया और उसे घेरकर आत्मसमर्पण करने को कहा गया, लेकिन वह नहीं माना और पुलिस टीम पर गोलियां चलाने लगा। पुलिस ने आत्मरक्षा में जबाबी फायरिंग की। मुठभेड़ में गोली लगने से विकास दुबे घायल हो गया। आनन-फानन इलाज के लिए हैलट अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज का दौरान विकास की मौत हो गई।