वाशिंगटन । अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कठोर वीजा पॉलिसी का असर अब दिखने लगा है। वित्त वर्ष-2018 में अमेरिका में एच1बी वीजा आवेदन की मंजूरियों में 10 प्रतिशत की गिरावट आई है। विशेषज्ञों के अनुसार, इस गिरावट के लिये ट्रंप सरकार की कठोर वीजा नीतियां जिम्मेदार है। अमेरिका के नागरिक एवं आव्रजन सेवा विभाग ने वित्त वर्ष-2018 में 3,35,000 एच1बी वीजा आवेदनों को मंजूरी दी। इनमें नये और पुराने आवेदन दोनों शामिल रहे। यह वित्त वर्ष 2017 के 3,73,400 आवेदनों से 10 प्रतिशत कम है। विभाग की सालाना सांख्यिकी रिपोर्ट के अनुसार, एच1बी वीजा आवदेनों की मंजूरी की दर 2017 के 93 प्रतिशत से कम होकर 2018 में 85 प्रतिशत पर आ गई। स्थानीय अखबार ने माइग्रेशन पॉलिसी इंस्टीट्यूट की विश्लेषक साराह पीयर्स ने कहा, ‘यह सरकार एच1बी वीजा कार्यक्रम के इस्तेमाल को लगातार कम करने के लिये आक्रामक कदम उठा रही है और यह आंकड़ों में दिख रहा है।’