उज्जैन। श्री महाकालेश्वर मन्दिर में महाशिवरात्रि पर्व 13 फरवरी से प्रारम्भ होकर 21 फरवरी को मनाया जायेगा। महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर मन्दिर में बड़ी संख्या में दर्शनार्थी दर्शन के लिये आयेंगे। इसी बात को दृष्टिगत रखते हुए प्रशासक श्री एस.एस. रावत ने मंदिर के सभी अधिकारियों एवं प्रभारियों की कार्यालय के सभाकक्ष में बैठक लेकर सभी अधिकारियों एवं प्रभारियों को निर्देश दिये। अधिक संख्या में श्रद्धालुओं के दर्शन व्यवस्था को दृष्टिगत रखते हुए हर पास पर होगी क्‍यू. आर. कोड की सुविधा महाशिवरात्रि पर्व पर इस बार दर्शनार्थियों हेतु जारी हर पास पर क्‍यू.आर.कोड की सुविधाजनक व्‍यवस्‍था निर्धारित की गई है। जिससे दर्शनार्थियों को दर्शन दिग्‍धा के मार्ग तक पहुंचने में आसानी होगी।


कंट्रोल रूम में उपस्थित होंगे हर विभाग के नोडल अधिकारी
प्रशासक द्वारा निर्देश दिये गये कि हर विभाग के नोडल अधिकारी कंट्रोल रूम में तैनात रहेंगे तथा विभागों द्वारा जारी ड्यूटी आदेश मंदिर कंट्रोल रूम में चस्‍पा किये जायेंगे। जिससे सभी अधिकारी/कर्मचारियों की उपस्थित की जांच की जावेगी।
श्रद्धालुओं के आगमन एवं निर्गम व्यवस्था, शीघ्र दर्शन, प्रसाद काउन्‍टर की व्‍यवस्‍था, वीआईपी, दिव्यांगजन एवं वृद्धजन, सामान्य प्रवेश व्यवस्था, साफ-सफाई, भीड़ नियंत्रण एवं दर्शन व्यवस्था हेतु बेरिकेट्स, दर्शनार्थियों के लिये पानी व छाया व्यवस्था, दिव्यांगजनों के लिये व्हील चेयर आदि की व्यवस्थाओं पर चर्चा कर सम्बन्धितों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।
महाशिवरात्रि पर्व पर विद्युत व्यवस्था, प्राथमिक उपचार एवं एम्बुलेंस व्यवस्था, जूता स्टेण्ड, पत्रकारों की व्यवस्था, यातायात व्यवस्था, अस्थाई फायर स्टेशन आदि बिन्दुओं पर चर्चा की और सम्बन्धितों को निर्देश दिये तथा विभिन्‍न व्‍यवस्‍थाओं हेतु ‘’ए’’ प्‍लान, ‘’बी’’ प्‍लान तथा ‘’सी’’ प्‍लान बनाने हेतु कहा गया। श्रद्धालुओं के मनोरंजन हेतु 3 स्‍थानों पर भजन मंडलियों के द्वारा भजनों की प्रस्‍तुति दी जावेगी। साथ दर्शनार्थियों हेतु होल्‍डप में जल व्‍यवस्‍था, प्रसाधन की व्‍यवस्‍था, चिकित्‍सा आदि की व्‍यवस्‍थाएं की गई है। बैठक में उप प्रशासक श्री पुष्‍पेन्‍द्र अहीके, सुरक्षा अधिकारी सुश्री रूबी यादव, सहायक प्रशासक श्री मूलचंद्र जूनवाल, श्री प्रतीक द्विवेदी, श्री चन्‍द्रशेखर जोशी, सहायक प्रशासनिक अधिकारी श्री आर.के.तिवारी तथा मंदिर के शाखा प्रभारी आदि उपस्थित थे।