यूपी पंचायत चुनाव : साॅफ्टवेयर में अटकी मतदाता सूची, अब पांच फरवरी को प्रकाशन

यूपी में पंचायत चुनाव की तैयारियां जोरों पर है। मुरादाबाद में नए परिसीमन के बाद अभी वोटर लिस्ट के प्रकाशन को विभाग तैयार नहीं है। पुर्नगठन के बाद नए परिसीमन के बाद ग्राम पंचायतों में वार्डों का काम होना है। इसके बाद ही नई मतदाता सूची बन पाएगी। इसकी वजह से राज्य निर्वाचन आयोग ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को अपने जिले में जल्द से जल्द नए परिसीमन के हिसाब से साफ्टवेयर में परिवर्तन करके मतदाता सूची तैयार करवाने को कहा है। इसके लिए पांच फरवरी की तारीख मुकर्रर की गई है।

पंचायत चुनाव को लेकर मुरादाबाद और संभल जिलों के परिसीमन की कार्रवाई 18 जनवरी को पूरी हो चुकी है। जिसमें ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत संख्या भी निर्धारित हो गई। जिला पंचायत में इस बार वार्ड 34 से बढ़कर 39 हो गए है। इसी तरह क्षेत्र पंचायत में यह संख्या 972 और ग्राम पंचायत में संख्या 643 हो गई। नए परिसीमन के बाद इन ग्राम पंचायतों में वार्डों के हिसाब से विभाजन होना है जिससे नई सिरे से मतदाता सूची अपडेट हो जाए। पूर्व में राज्य निर्वाचन आयोग ने कार्यक्रम के अनुसार अंतिम प्रकाशन की तारीख 22 जनवरी तय की थी। लेकिन नए परिसीमन के हिसाब से साफ्टवेयर को अपडेट करने में वक्त लग रहा है। इस पर अपर निर्वाचन आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा ने जिला निर्वाचन अधिकारी को ग्राम पंचायतों के मतदाताओं के परिसीमन के बाद स्थितियों के हिसाब से साफ्टवेयर को दुरुस्त करवाने को कहा है। इस काम को पांच फरवरी तक पूरा कराने की डेड लाइन दी गई है। आयोग से मिले निर्देश के बाद जिला निर्वाचन कार्यालय (पंचायत व नगर निकाय) स्टाफ साफ्टवेयर को अपडेट कराने की तैयारी में जुट गया है जिससे समय से काम को पूरा कराया जा सके।

बाल किशन, एडीईओ जिला निर्वाचन कार्यालय (पंचायत व नगर निकाय)  कहते हैं कि नए परिसीमन के हिसाब से मतदाता सूची को साफ्टवेयर के हिसाब से दुरुस्त कराने के बाद ड्राफ्ट निर्वाचक नामावलियां तैयार की जाएंगी। इसके बाद आयोग द्वारा इनका विशेष पुनरीक्षण व अंतिम प्रकाशन जारी किया जाएगा, इसके बाद ही आरक्षण आदि काम कराए जाएंगे।