दुबई। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई)   सिविल एविएशन अथॉरिटी ने चार एशियाई देशों के नागरिकों के अपने यहां आने पर रोक लगा दी। प्रतिबंधित इसमें पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल और श्रीलंका शामिल हैं। हालांकि, भारत को इस लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है। यह ट्रैवल बैन 12 मई से लागू होगा। बयान में यह नहीं बताया गया है कि बैन कब तक जारी रहेगा। यूएई ने इसी महीने की शुरुआत में इशारा किया था कि वो संक्रमण रोकने के लिए कुछ सख्त कदम उठा सकता है। पाकिस्तान के लिए यूएई का फैसला दोहरे झटके की तरह है। करीब 6 महीने पहले यूएई ने पाकिस्तानियों के वर्क वीजा और परमिट रद्द करना शुरू किया था। इसके बाद से अब तक नए वर्क वीजा जारी नहीं किए गए हैं। अब ट्रैवल बैन भी लगा दिया गया है। 
  यूएई को लगता है कि पाकिस्तान में वैक्सीनेशन की रफ्तार न के बराबर है और यहां के लोग यूएई के हालात बिगाड़ सकते हैं। पाकिस्तान और बांग्लादेश से ज्यादातर मजदूर यहां आते हैं। पाकिस्तान सरकार खुद मान रही है कि ईद के पहले बाजारों में बेतहाशा भीड़ बढ़ रही है और लोग सावधानी नहीं रख रहे। इससे निपटने के लिए सेना को सड़कों पर उतार दिया है। इसके बावजूद हर दिन करीब 4 हजार मामले सामने आ रहे हैं। फिलहाल, ट्रैवल बैन एकतरफा रखा गया है। यूएई से इन देशों के लोग वापस अपने देश जा सकेंगे लेकिन इसके लिए भी सख्त नियम तय किए गए हैं। इन देशों में मौजूद यूएओई डिप्लोमैटिक मिशन, नागरिक और बिजनेस जेट्स आ सकेंगे। इन लोगों को भी यात्रा के लिए आरटीपीसीआर टेस्ट रिपोर्ट सबमिट करनी होगी और यह 48 घंटे से ज्यादा पुरानी नहीं होनी चाहिए। देश लौटने के बाद इन्हें 10 दिन का मेंडेटरी क्वारैंटाइन पीरिएड पूरा करना होगा।