दुनिया को कोरोना से निजात दिलाने के लिए मुंबई के केईएम अस्पताल में कोरोना वैक्सीन का ट्रायल शनिवार को शुरू होगा। कोरोना वैक्सीन के ट्रायल के लिए केईएम को इथिक्स कमिटी का अप्रूवल मिल गया है। अस्पताल में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित वैक्सीन का ट्रायल 100 लोगों पर किया जाएगा।

अस्पताल के डीन डॉ हेमंत देशमुख ने कहा कि हमने अब तक 10 सहित 13 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की है। शनिवार को इनमें से तीन को ऑक्सफोर्ड का पहला शॉट मिलेगा। इंडियन कॉउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित की गई वैक्सीन का ट्रायल करने के लिए देशभर से 10 मेडिकल संस्थानों का चयन किया गया है। इसमें बीएमसी के केईएम और नायर अस्पताल भी शामिल है। 

रेमेडिसविर की कालाबाजारी रोकने के लिए महाराष्ट्र सरकार सख्त

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार सभी डॉक्टरों और कोविड​​-19 अस्पतालों को 24 घंटे के भीतर एक परिपत्र जारी करेगी। इसमें कोरोना की सबसे उपयोगी दवा रेमेडिसविर के तर्कसंगत उपयोग के लिए कहा जाएगा। खाद्य एवं औषधि प्रशासन मंत्री डॉ राजेंद्र शिंगने ने जानकारी दी कि राज्य में इस एंटी वायरल दवा  की कालाबाजारी के खिलाफ एक विशेष अभियान शुरू किया जाएगा।

दोनों मंत्री कोविड​​-19 स्थिति पर एक समीक्षा बैठक के बाद मीडिया को संबोधित कर रहे थे। टोपे ने भंडारा, गोंदिया और नागपुर में सरकारी अस्पतालों का दौरा किया और स्थिति और प्रशासन द्वारा उठाए गए कदमों का जायजा लिया। कोविड-19 अस्पतालों में रेमेडिसविर के अधिक उपयोग और कमी के बारे में पूछे जाने पर टोपे ने कहा, इंजेक्शन का तर्कसंगत उपयोग महत्वपूर्ण है। मरीज को भर्ती करने के बाद ही इसका प्रयोग किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि डॉक्टरों और कोविड​​-19 अस्पतालों को निर्देश दिया जाएगा कि वे कैसे रेमेडिसविर का उपयोग करें और 24 घंटे के भीतर एक परिपत्र जारी किया जाएगा।