पांचवें चरण की मतगणना के बाद भवानीपुर में ममता करीब 24,000 वोटों से आगे
मुर्शिदाबाद की दो सीटों समसेरगंज और जांगीपुर पर भी टीएमसी को मिली बढ़त

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भवानीपुर उपचुनाव में रविवार सुबह पांचवें चरण की मतगणना के बाद 23 हजार 957 मतों से आगे चल रही हैं। निर्वाचन आयोग ने यह जानकारी दी। तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) मुर्शिदाबाद की समसेरगंज और जांगीपुर सीटों पर भी आगे चल रही है। इन दोनों विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिए भी मतगणना चल रही है। पांचवें चरण की मतगणना के बाद आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, दक्षिण कोलकाता की भवानीपुर सीट से टीएमसी की उम्मीदवार बनर्जी को 28 हजार 355 मत मिले हैं। उनकी करीबी प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी की प्रियंका टिबरेवाल को 4 हजार 398 मत, जबकि माकपा के श्रीजीब बिस्वास को 398 मत मिले हैं। भवानीपुर में कुल 21 चरणों में मतगणना होगी। बनर्जी को मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए यह चुनाव जीतना होगा। समसेरगंज में टीएमसी उम्मीदवार अमीरुल इस्लाम दूसरे चरण की मतगणना के बाद 1,743 मतों से आगे चल रहे हैं। उन्हें 11,432 मत मिले हैं, जबकि उनके करीबी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के जैदुर रहमान को 9,689 मत मिले हैं। उल्लेखनीय है कि ममता बनर्जी इस साल की शुरुआत में हुए विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम से चुनाव हार गई थीं। मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बने रहने के वास्ते उन्हें विधानसभा के लिए निर्वाचित होना होगा। निर्वाचन आयोग ने भवानीपुर के सखावत मेमोरियल कन्या उच्च विद्यालय में बने मतगणना केंद्र पर त्रिस्तरीय सुरक्षा के इंतजाम किए हैं, जहां केंद्रीय बलों की 24 कंपनियां भी तैनात की गई हैं। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) स्ट्रांग रूम में आठ सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और नतीजे 21 चरण की मतगणना के बाद घोषित किए जाएंगे। तीनों निर्वाचन क्षेत्रों में मतगणना केंद्रों के 200 मीटर के दायरे में दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है। इन सीटों पर 30 सितंबर को मतदान हुआ था। निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने कहा कि उम्मीदवार और उनके एजेंट जिन्होंने कोविड​​-19 रोधी टीकों की दोनों खुराक ली है या जांच में संक्रमण की पुष्टि नहीं है, उन्हें मतगणना स्थलों में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों और एजेंटों को कोविड​​-19 प्रोटोकॉल का पालन करने को कहा गया है। दक्षिण कोलकाता के भवानीपुर से विधानसभा चुनाव जीतने वाले राज्य के मंत्री शोभनदेब चट्टोपाध्याय ने मई में परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद सीट खाली कर दी थी, जिससे उपचुनाव का मार्ग प्रशस्त हो गया ताकि बनर्जी यहां से चुनाव लड़ सकें। मुर्शिदाबाद जिले के जंगीपुर और समसेरगंज में एक-एक उम्मीदवार की मौत के बाद मतदान स्थगित कर दिया गया था। भवानीपुर में 57 फीसदी से ज्यादा मतदान हुआ। समसेरगंज और जंगीपुर में क्रमशः 79.92 प्रतिशत और 77.63 प्रतिशत मतदान हुआ।