कोलकाता |  पश्चिम बंगाल में नंदीग्राम सीट का महासंग्राम अब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए प्रतिष्ठा की लड़ाई बन चुकी है, क्योंकि माना जा रहा है कि यहां से भाजपा ममता बनर्जी के कभी खास रहे शुभेंदु अधिकारी को मैदान में उतार सकती है। नंदीग्राम में एक ऐसे घर की तलाश की जा रही है, जहां पर रह कर ममता बनर्जी अपनी और पार्टी की जीत की पटकथा लिखने की कोशिश करेंगी। पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए पूर्वी मिदनापुर जिले के नंदीग्राम में एक घर की तलाश कर रही है, जहां से पार्टी सुप्रीमो आगामी विधानसभा चुनाव लड़ रही हैं।

पूर्वी मिदनापुर के एक टीएमसी नेता शेख सुफियान ने कहा कि हमारी पार्टी के नेताओं ने नंदीग्राम में कई घरों की जांच की है, जहां ममता बनर्जी अगले एक महीने तक रहेंगी और चुनाव लड़ेंगी। हमने पहले ही कुछ मकान किराए पर ले लिए हैं, जहां कोलकाता से आने वाले टीएमसी नेता रह सकते हैं। गौरतलब है कि ममता बनर्जी पहले ही ऐलान कर चुकी हैं कि वह नंदीग्राम से भी चुनाव लड़ेंगी, जहां से माना जा रहा है कि भाजपा शुभेंदु अधिकारी को उतार सकती है। 


पश्चिम बंगाल में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है और यहां आठ चरणों में विधानसभा चुनाव होंगे। वोटिंग 27 मार्च से शुरू होगी और 2 मई को नतीजे आएंगे। नंदीग्राम सीट पर 1 अप्रैल को दूसरे फेज में वोटिंग होगी। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में नंदीग्राम इस बार हॉट सीट बना हुआ है। वजह कि यहां से न सिर्फ ममता बनर्जी चुनाव लड़ रही हैं, बल्कि कभी उनके ही सिपहसालार रहे टीएमसी के पूर्व और भाजपा के मौजूदा नेता शुभेंदु अधिकारी दमखम दिखा सकते हैं। हालांकि, शुभेंदु अधिकारी के नाम पर अब तक भाजपा ने मुहर नहीं लगाई है। लेकिन शुभेंदु पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि वह अगर नंदीग्राम से नहीं भी उतरते हैं तब भी वह ममता बनर्जी की हार सुनिश्चित करेंगे।  

नंदीग्राम टीएमसी के लिए प्रतिष्ठा वाली सीट है। इसकी वजह यह है कि पूर्वी  मिदनापुर की इस सीट पर ही 2006-08 के दौरान ममता बनर्जी ने भूमि अधिग्रहण के खिलाफ आंदोलन चलाया था। इस मूवमेंट के जरिए ममता बनर्जी को बंगाल में अपनी जमीन मजबूत करने में मदद मिली थी और इसमें शुभेंदु अधिकारी की बड़ी भूमिका थी। ऐसे में यह सीट ममता बनर्जी के लिए काफी अहम है। अगर इस सीट पर अधिकारी लड़ते हैं तो मुकाबला रोचक होगा। हालांकि, शुक्रवार को भाजपा के केंद्रीय कमेटी की बैठक हुई, जिसमें शुभेंदु अधिकारी को नंदीग्राम से लड़ाने के मसले पर भी विचार-विमर्श किया गया। हालांकि, अब तक इस पर फैसला नहीं हो पाया है।  

कुछ दिन पहले जब राज्य मंत्री और वरिष्ठ टीएमसी नेता फ़रहाद हकीम नंदीग्राम गए, तो उन्होंने कई घरों में एक घर की जांच की थी। यह घर टीएमसी नेता सूफियान के घर के करीब है और टीएमसी नेताओं ने कहा कि यह ममता के लिए अधिक उपयुक्त होगा। ममता बनर्जी के लिए अब तक जो घर देखा गया है और जिसे फाइनल करने की सोच रहे हैं, वह दो मंजिला घर है और एक गली में स्थित है। घर के पीछे में एक छोटे सा फल का बाग है और चारों ओर हरियाली है। उसके पीछे धान के खेत हैं। 

हालांकी, नंदीग्राम में ममता बनर्जी के लिए घर खोजने की बात पर भाजपा ने चुटकी ली है और कहा कि टीएमसी चाहे जो भी करे, इस बार वे हारने वाले हैं। राज्य भाजपा की महिला मोर्चा की अध्यक्ष अग्निमित्रा पॉल ने कहा कि टीएमसी चाहे तो दो घरों या ममता बनर्जी के लिए चार घरों की तलाश कर ले, मगर वह इस बार हार जाएंगी। शुभेंदु अधिकारी ने पहले ही ममता बनर्जी को कम से कम 50,000 वोटों से हराने की चुनौती दी है।