बीजिंग। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के अध्यक्ष किझाला का अगले साल शीर्ष नेतृत्व में होने वाले फेरबदल में राष्ट्रीय विधायिका में उच्चतर पद के लिए बीजिंग तबादला कर दिया है।इस दौरान राष्ट्रपति शी जिनपिंग को अभूतपूर्व तौर पर तीसरा कार्यकाल संभावित है। खबर दी कि किझाला (63) बीजिंग में नई जिम्मेदारी संभालने के लिए ल्हासा से चले गए हैं। वैसे इसकी अबतक आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। किझाला का मूल नाम चे डल्हा है। किझाला का स्थान सत्तारूढ़ चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सपीसी) की ल्हासा शाखा के प्रमुख यान जिन्हाइ के लेने की संभावना है। यह फेरबदल ऐसा पार्टी की पंचवर्षीय कांग्रेस के गठन का हिस्सा है। ल्हासा तिब्बत की प्रांतीय राजधानी है। कांग्रेस अगले दशक के लिए पार्टी का शीर्ष नेतृत्व तय करेगी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 2017से तिब्बत सरकार की अगुवाई कर रहे किझाला को शीर्ष विधायिका नेशनल पीपुल कांग्रेस में नई भूमिका मिलने की संभावना है।एनपीसी में उनकी प्रोन्नति ‘‘चीनी राष्ट्र के लिए सामुदायिक भावना' के शी के दृष्टिकोण की पूर्ति होना है जिसका मतलब पार्टी सभी जातीय समूहों के लिए है। सीपीसी नवंबर में अपना छठा पूर्ण सत्र बुलाकर अगले साल की कांग्रेस की अपनी प्रक्रिया शुरू करेगी। इस सत्र में 370 से अधिक पूर्ण एवं प्रत्यावर्ती सदस्य हिस्सा लेंगे।