लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की सुप्रीमो और प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से जारी नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ)-2020 में जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) और जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी की बेहतर रैकिंग को लेकर इन पर सवाल उठाने वालों को सीख लेने की नसीहत दी है।

मायावती ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि भारत सरकार की रैंकिग में जेएनयू लगातार चौथी बार देश की दूसरी सर्वोत्तम यूनिवर्सिटी घोषित हुई है। जबकि, दिल्ली के ही जामिया मिल्लिया ने दो रैंक बेहतर करके 10वां स्थान प्राप्त किया है। मायावती ने कहा कि इससे वे लोग जरूर सीख लें जो इन प्रतिष्ठित संस्थानों को बदनाम करने में कभी कोई कसर नहीं छोड़ते।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के बनारस हिन्दू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) को भी तीसरा रैंक प्राप्त करने पर बधाई। इन नामी उच्च शिक्षण संस्थानों के छात्रों, शिक्षकों व कर्मचारियों की खास जिम्मेदारी बनती है कि वे और भी ज्यादा लगन व निष्ठा के साथ काम करें, विवादों में न पड़ें व अपनी उपलब्धियों से अपने भारत देश का नाम दुनिया में रौशन करें।