• दूल्हा सबसे पहले गोंड़ बाबा के दरबार मे देते हैं हाजिरी
  • थाने पहुंचने वाले  दूल्हे की  पुलिस भी करती है  खातिरदारी

दमोह जिले की हटा तहसील के मड़ियादो गांव में दूल्हों के शादी से पहले थाने जाने की परंपरा है. गांव के दूल्हे दुल्हन  को लेने जाने के पहले घोड़े पर सवार होकर गाजे बाजों के थाने पहुंचते हैं. साथ ही सभी दूल्हे और इनके परिजन थाना परिसर में विराजमान प्रसिद्ध गोंड़ बाबा के दर्शन कर शांतिपूर्वक और बेहतर तरीके से विवाह उत्सव सम्पन्न होने जाने की प्रार्थना भी करते हैं.
जिले के मडियादो थाना परिसर में बेंड बाजो के साथ दूल्हों के प्रवेश होते ही यहां का माहौल उत्सव में बदल जाता है. ऐसे में थाना पुलिस यहां आने वाली जनता से मिलती है और दूल्हे का स्वागत भी करती है. इन दिनों शादियों का सीजन होने से थाना परिसर में दूल्हों के आने जाने का क्रम लगातार जारी है. ऐसे में थाना प्रभारी श्याम बेन दूल्हों का स्वागत करते हुए यथा सम्मान उपहार देकर लोगों से चर्चा कर पुलिस और जनता के बीच सम्बाद स्थापित करते हुए बेहतर पुलिसिंग की मिसाल पेश कर रहे हैं. दूल्हे के साथ आने वाले उनके परिजन एवं रिश्तेदार थाना परिसर में बने मंदिर में अपने रीति-रिवाजों से पूजा करके परंपरा का निर्वहन करते हैं. साथ ही पुलिस के स्वागत कर सम्मान भी करते हुए नियमों का पालन करते हैं. नया व्यक्ति एक क्षण पुलिस थाना परिसर में दूल्हे के प्रवेश को देखकर चौक जाता है. लेकिन दूसरे ही क्षण उसे जब पता चलता है कि थाना परिसर में बने मंदिर में दूल्हा सहित सभी लोग पूजा करने के लिए जा रहे हैं. तो वह व्यक्ति भी संतुष्ट हो जाता है.
बाइट श्याम बेगी थाना प्रभारी मडियादो