लद्दाख |भारत में खूबसूरत जगहों के बारे में बात हो तो लद्दाख का नाम सबसे टॉप पर आता है। सबसे ज्यादा ऊंचाई पर मौजूद ये जगह स्वर्ग से कम नहीं है। सर्द मौसम, बर्फ से ढके पहाड़, सुंदर झीलें और शांत वातावरण आपका मन मोह ने में कामयाब होगा। वैसे तो पूरे साल में कभी भी लद्दाख जा सकते हैं, लेकिन अगर आप कम बजट में ट्रिप प्लान कर रहे हैं तो सितंबर के महिने में लद्दाख घूमने की प्लानिंग कर सकते हैं। सितंबर के महीने में लद्दाख घूमने का अपना अलग मजा है। तो चलिए जानते हैं सितंबर के महीने में लद्दाख घूमने के क्या फायदे हैं। 
1)सितंबर के महीने में लद्दाख में ठंड होना शुरू हो जाती है, जिसकी वजह से यहां भीड़ कम होती है। हालांकि इस महीने में भी लद्दाख में रहने के लिए अच्छी रहने की व्यवस्था होती है। साथ ही कुछ ऐसी जगह हैं जहां कम लोगों की भीड़ में घूमने का ज्यादा मजा आता है। जिसमें पेन्गॉन्ग झील की बात हो तो वहां शांति से बैठने में सबसे ज्यादा सुकून मिलता है। 
2)सितंबर के महीने में बहुत कम लोग घूमने जाते हैं। ऐसे में होटल सस्ते मिल जाते हैं। ऑफ सीजन में होटल के दाम काफी कम होते हैं। इस महीने में होटल 50 प्रतिशत का डिस्काउंट तक देते हैं। सितंबर के महीने में यहां जाने के लिए फ्लाइट भी काफी सस्ती मिल जाती हैं। 
3)अगर आप रोड ट्रिप पर लद्दाख जाने का सोच रहे हैं तो ये महीना आपके लिए अच्छा है। इस महीने में काफी कम लोग लद्दाख जाते हैं। जिसकी वजह से रास्ते में काफी कम ट्रैफिक मिलता है। नुब्रा घाटी या त्सो मोरिरी  झील जैसी जगहों पर जाना आसान हो जाता है क्योंकि ट्रैफिक नहीं मिलता और सफर यादगार बन जाता है।
4)सितंबर के महीने में लद्दाख में लद्दाख फेस्टिवल होता है। यहां साल में नरोपा फेस्टिवर मनाया जाता है। इस त्योहार को लद्दाख का कुंभ भी कहा जाता है।