भोपाल.जून में तेज़ी दिखाने के बाद अब जुलाई में मॉनसून (Monsoon) सुस्त पड़ा हुआ है. पूरे प्रदेश में बारिश की रफ्तार थम सी गयी है.मौसम विभाग कह रहा है कि मॉनसून की इस सुस्ती के कारण इस बार जुलाई में बारिश (rain) का सामान्य कोटा भी पूरा नहीं हो पाएगा. बारिश थमने से प्रदेश के कई इलाके फिर गर्मी और उमस से परेशान हैं. ग्वालियर में पारा 39 डिग्री के पार  पहुंच गया है.जुलाई महीने की शुरुआत के साथ ही प्रदेश भर में बारिश की रफ्तार धीमी रही.भोपाल की बात करें तो जून महीने में बारिश का ट्रेंड अच्छा रहा. बीते 10 साल में तुलना की जाए तो जून महीने में कोटे से साढ़े दस इंच से ज्यादा इस बार बारिश रिकॉर्ड हुई है.

जुलाई में अब तक 1.92 इंच बारिश
जून में मानसून ने एक भी दिन का ब्रेक नहीं लिया था.वहीं जुलाई के महीने में ब्रेक के बाद बारिश हो रही है.जुलाई के दूसरे हफ्ते में अभी तय कोटे की बारिश होना बाकी है.मौसम विभाग का कहना है जुलाई में बारिश का कोटा 16.4 इंच है.यहां अब तक 1.92 इंच बारिश ही हुई है.


ग्वालियर में फिर तापमान 39 डिग्री के पार
बारिश थमने के साथ ही प्रदेश भर में लोग गर्मी और उमस से बेहाल है. ग्वालियर में काफी इंतज़ार के बाद मॉनसून आया लेकिन जैसे ही थमा, फिर उमस और गर्मी आ धमके. एक बार फिर से तापमान बढ़ने से लोगों को तेज गर्मी का एहसास हुआ. ग्वालियर में तापमान फिर से 39 डिग्री के पार पहुंच गया है. वहीं खरगोन में 35.4डिग्री, शाजापुर,शिवपुरी- श्योपुर में 34.4, सीधी-टीकमगढ़ में 35 और खजुराहो 35 डिग्री तापमान दर्ज किया गया.


जुलाई में बारिश का कोटा पूरा होने के आसार नहीं
मौसम विभाग का कहना है कि जुलाई माह में मॉनसून इसी सुस्ती में रहेगा. इसलिए इस साल जुलाई का बारिश का कोटा पूरे होने के आसार नहीं हैं. प्रदेश में जुलाई में सामान्य बारिश का कोटा 371मिमी है. लेकिन पिछले साल जुलाई में सामान्य से लगभग दोगुनी यानी 645 मिलीमीटर बारिश हुई थी. इस बार जिस तरह से बारिश की रफ्तार धीमी है.उसे देखकर लग रहा है कि जुलाई महीने में सामान्य बारिश का कोटा पूरा नहीं हो पाएगा. राहत की बात यह है कि जून महीने में 405 मिलीमीटर बारिश हुई थी,जो सामान्य से 263 फ़ीसदी अधिक थी. इसी वजह से जुलाई में कम बारिश होने के बावजूद वो अभी सामान्य स्तर से नीचे नहीं पहुंची है.