तकनीक के इस युग में नये क्षेत्र आते जा रहे हैं जिनमें काफी अच्छा वेतन है। जिस प्रकार तकनीक के माध्यम से दुनिया सिमट रही है उससे डेटा सबसे अहम हो गया है। ऐसे में डेटा साइंटिस्ट की मांग बढ़ती जा रही है।  डेटा साइंटिस्ट डेटा को व्यवस्थित करने में अहम योगदान देंते हैं। बैंकों से लेकर ई-कॉमर्स फर्मों के यहां तक कि दवा उद्योग और कई दूसरे उद्योगों में कारोबार को गति प्रदान करने के लिए हर दिन डेटा का उपयोग किया जा रहा है। ऐसे में इस क्षेत्र में प्रफेशनल्स की बढ़ती डिमांड कोई आश्चर्य का विषय नहीं है। इसलिए कहा जा सकता है कि आज के दौर में डेटा साइंटिस्ट एक आकर्षक करियर विकल्प के रूप में उभरा है। 
आपको बताते चलें कि देश में भले ही तमाम सेक्टर्स में नौकरियों की कमी दिखती हो, लेकिन डेटा साइंस प्रफेशनल्स की मांग में 400 फीसदी का इजाफा हुआ है। यही नहीं, टैलेंट सप्लाई इंडेक्स से भी इसी तरह के संकेत मिल रहे हैं। कमाई के मामले में करियर का यह विकल्प सीए और इंजीनियर्स को भी पीछे छोड़ता दिख रहा है।
साधारण तरीके से समझें, तो डेटा साइंडिस्ट मुख्य रूप से डेटा से खेलते हैं। डेटा में अपनी गहरी समझ के साथ ही कंपनियों को बिजनस में आगे बढ़ने में सहायता प्रदान करते हैं। इस दौरान वे डेटा को मैनेज करने के लिए गणित, सांख्यिकी और प्रोग्रामिंग के जरिए अपनी कुशलता का परिचय देते हैं। एक डेटा साइंटिस्ट से यह उम्मीद की जाती है कि वह कंपनी में रहते हुए बिजनस के हर एक पहलुओं को अच्छी तरह से समझे और आवश्यक डेटा के माध्यम से कंपनी को चीजों को समझने में सहायता प्रदान करे। इसलिए अपने जॉब प्रोफाइल के अंतर्गत वह कंपनी को डेटा के जरिए चीजों को समझने के लिए विकल्प प्रदान करता है। वह कंपनी में डेटा साइंटिस्ट की जिम्मेदारी निभाते हुए कई भूमिकाओं में दिखता है। आईटी क्रांति के बाद बिजनस सेक्टर में डेटा की मांग बहुत बढ़ गई है। हर कोई बिजनस को मजबूत आधार प्रदान करना चाहता है। सोशल मीडिया के दौर में कस्टमर तक अपनी पैठ को मजबूत करने के मकसद से डेटा साइंटिस्ट की मदद ली जाती है। इसमें मिलती सफलता ने इनकी डिमांड के ग्राफ को मजबूती प्रदान किया है।
बनें मैथ्स में माहिर
इसे करियर का एक शानदर विकल्प बनाने के लिए जरूरी है कि आप मैथ्स के माहिर बनें। जब आप डेटा के साथ जीचों को समझने की ओर कदम बढ़ाते हैं, तो मैथ की जरूरत होती है। एक डेटा साइंटिस्ट को इसके अलावा टेक्निकल और मशीनों के बारे में भी जानकारी रखनी होती है। इसलिए मैथ्स के साथ-साथ कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, अप्लाइड साइंस, मकेनिकल इंजीनियरिंग के बारे में भी गहरी समझ को विकसित करें।
रणनीति में गहरी समझ
एक डेटा साइंटिस्ट को डेटा के साथ ही बिजनेस की गहरी समझ होनी चाहिए। उसे इस आधार पर डेटा उपलब्ध कराना होता है। इसलिए इसके साथ एमबीए की डिग्री वाले लोगों को अहमियत मिलने लगी है।
शानदार जॉब प्रफाइल और सैलरी
डेटा साइंटिस्ट की बढ़ती डिमांड के पीछे इनकी सैलरी स्ट्रक्चर को भी अहम माना जा रहा है। यहां पर आप सालाना 80 लाख तक कमा सकते हैं। आपको विभिन्न कंपनियों में अडवांस्ड एनालिटिक्स और ऑप्टिमाइजेशन कंसल्टेंट, डेटा एनालिटिक्स और डेटा मैनेजर या साइंटिस्ट के तौर पर अपनी कुशलता को दिखाने का अवसर मिल सकता है। इसकी स्टडी के लिए आप इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टीटयूट, कोलकाता, इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ मैनेजमेंट, बेंगलुरु, इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मुंबई, इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ टेक्नॉलजी, खड़गपुर, इंटरनैशनल स्कूल ऑफ बिजनेस, हैदराबाद की ओर रुख कर सकते हैं।