आयोग के संज्ञान लेने पर शिक्षक को मिले 18 लाख रूपये

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग द्वारा संज्ञान लेने पर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षक श्री जगदीश यादव को उनके लम्बित स्वत्वों की कुल धनराशि 18 लाख 876 रूपये का अंतिम भुगतान कर दिया गया है।
मामला वर्ष 2019 का है। ग्वालियर शहर के तानसेन नगर स्थित अशासकीय विद्या मंदिर हाईस्कूल में पदस्थ शिक्षक श्री जगदीश यादव द्वारा उन्हें बीस माह से वेतन न मिलने की शिकायत करते हुये तत्कालीन शिक्षा मंत्री से (ग्वालियर प्रवास के दौरान) उनके रूके हुये वेतन का भुगतान दिलाने की मांग की थी। इस मामले का अंतिम निराकरण करते हुये लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा आयोग को प्रतिवेदन दे दिया गया है।
प्रकरण के अनुसार आयोग द्वारा एक दैनिक अखबार में 5 अक्टूबर 2019 को ग्वालियर से प्रकाशित ’’शिक्षा मंत्री के पैर पकड रो पडे शिक्षक दंपति’’ शीर्षक खबर पर संज्ञान लेकर प्रमुख सचिव, मध्यप्रदेश शासन, स्कूल शिक्षा विभाग तथा आयुक्त स्कूल शिक्षा, भोपाल से प्रतिवेदन मांगा था। आयोग द्वारा मामले की निरंतर सुनवाई की गई। जिससे शिक्षक को उसका सारा भुगतान कर दिया गया है।
लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा आयोग को दिये प्रतिवेदन में कहा गया है कि इस प्रकरण की गहन जांच में पाया गया कि शिक्षक श्री जगदीश यादव के भुगतान में सेवा पुस्तिका एवं अन्य अभिलेखों में त्रुटियां पाये जाने के कारण उनका भुगतान लम्बित रहा था। वर्तमान में शिक्षक श्री यादव के सभी लम्बित स्वत्वों की कुल धनराशि 18 लाख 876 रूपये का नियमानुसार भुगतान किया जा चुका है।