नई दिल्ली | संसद के बजट सत्र का दूसरा चरण सोमवार से शुरू हो रहा है। संसद के बजट सत्र का पहला चरण 29 जनवरी से शुरू होकर 28 फरवरी को खत्म हुआ था। बजट सत्र के बारे में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने सूचना दी है कि राज्यसभा सुबह 9 से दोपहर 2 बजे तक चलेगी और लोकसभा की कार्रवाई शाम 4 से 10 बजे तक चलेगी। यह सत्र 8 अप्रैल तक चलेगा। हालांकि, देश के पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की वजह से संसद के बजट सत्र में कटौती किए जाने पर भी विचार हो रहा है।सूत्रों के मुताबिक, विधानसभा चुनावों को देखते हुए संसद के बजट सत्र में कटौती की जा सकती है और विभिन्न दलों के नेता इस विचार पर सहमत हैं। सूत्रों ने कहा कि यह अभी तक निर्णय नहीं किया गया है कि सत्र में कितने दिनों की कटौती होगी, लेकिन इस तरह के सुझाव हैं कि करीब दो हफ्ते की कटौती की जाए। उन्होंने कहा कि अंतिम फैसला सोमवार को सदन के नेताओं की बैठक में किया जा सकता है।इस बीच लोकसभा सचिवालय ने संसद परिसर के अंदर सांसदों के टीकाकरण की व्यवस्था की है। टीकाकरण अभियान के बाद सुबह 11 बजे से दोनों सदनों की एक साथ बैठक हो सकती है। वर्तमान में कोविड-19 महामारी के कारण संसद की बैठक दो सत्रों में होती है। राज्यसभा की बैठक सुबह में और लोकसभा की बैठक शाम में होती है। 

बजट सत्र का दूसरा चरण आठ मार्च से आठ अप्रैल तक निर्धारित है। बता दें कि तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल, असम और पुडुचेरी में 27 मार्च से 29 अप्रैल तक विधानसभा चुनाव हो रहे हैं।

पहले चरण में 99.5 प्रतिशत हुआ था काम
बजट सत्र के पहले चरण के दौरान लोकसभा में 99.5 प्रतिशत काम हुआ था। इस दौरान, लोकसभा 50 घंटे के तय समय के मुकाबले 49 घंटे और 17 मिनट बैठी। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा 16.39 घंटे तक चली। इस चर्चा में 130 सदस्यों ने भाग लिया। बजट पर चर्चा के लिए 10 घंटे तय किए गए थे, लेकिन सदन में 14 घंटे से ज्यादा समय तक बहस हुई। बजट चर्चा में 117 सांसदों ने हिस्सा लिया।