इस्लामाबाद । पाकिस्तान में सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा सहित देश के शीर्ष नेताओं की मौजूदगी में एक बैठक के दौरान उस समय पैर कांप रहे थे और माथे पर पसीने की बूंदे झलक रही थी जब विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को छोड़ने की गुहार लगाते हुए कहा था कि यदि उन्हें रिहा नहीं किया गया तो भारत पाकिस्तान पर हमला कर देगा। यह बात पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) के नेता सरदार अयाज सादिक ने कही तो पड़ोसी मुल्क का सच पूरी दुनिया के सामने आ गया। 
इस पर इमरान सरकार की काफी फजीहत हो रही है। वहीं पाकिस्तान सूचना मंत्री शिबली फराज ने सादिक के बयान की आलोचना की और कहा कि यह मुल्क को कमजोर करने वाला था। फराज ने ट्वीट किया कि अयाज सादिक की टिप्पणी माफी से परे है। अब कानून अपना काम करेगा। 
राज्य को कमजोर करना एक अक्षम्य अपराध है, जिसके लिए अयाज सादिक और उसके साथियों को दंडित किया जाना चाहिए। वहीं इसे पहले पाकिस्तान सरकार ने भी दावा किया कि भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान की रिहाई के लिए देश पर कोई दबाव नहीं था। अयाज सादिक ने पाकिस्तान की संसद में बयान दिया था कि विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने देश पर भारत के हमले के डर से उच्चस्तरीय बैठक में पायलट को रिहा किए जाने का अनुरोध किया था। पाकिस्तान की सेना ने 37 साल के भारतीय वायु सेना के पायलट को 27 फरवरी 2019 पकड़ लिया था। इससे पहले पाकिस्तान ने उनके ​मिग-21 बाइसन जेट विमान को मार गिराया था।
जम्मू कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के काफिले पर हुए हमले का बदला लेने के लिए भारतीय वायु सेना के जेट विमानों ने 26 फरवरी 2019 को तड़के पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में आतंकवादी संगठन जैश ए मोहम्मद के शिविरों पर बमबारी की थी। पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये थे। अभिनंदन ने मिग को गिराए जाने से पहले पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान को ​मार गिराया था। 
पाकिस्तान ने उन्हें एक मार्च की रात को रिहा कर दिया था। उस दिन के तनाव को याद करते हुए इस्लामाबाद में नेशनल असेंबली के पूर्व अध्यक्ष अयाज सादिक ने कहा कि पैर कांप रहे थे, माथे पर पसीना था और विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा, अल्लाह के लिए अभिनंदन अब वापस जाने दो, क्योंकि भारत रात नौ बजे पाकिस्तान पर हमला करने ही वाला है।