ग्वालियर जिन हाथों में हल्दी लगी थी, उन्हें हवालात जाना पड़ा। मामला ग्वालियर के पास डबरा का है। यहां पर अपनी पहली पत्नी को तलाक दिए बिना एक व्यक्ति दूसरी शादी रचा रहा था। दुल्हे के मंसूबों पर उस समय पानी फिर गया जब पुलिस ने उसे हल्दी लगे हाथों में ही मंडप से उठाकर हवालात पहुंचा दिया। डबरा सिटी थाना पुलिस के अनुसार महिला भूरी बाथम ने सूचना दी कि उसका पति राजेंद्र बाथम दूसरी शादी करने जा रहा है। भूरी के दस्तावेज देखने के बाद डबरा थाना टी आई सुदेश तिवारी ने अपनी टीम के साथ लक्ष्मी कॉलोनी स्थित राजेन्द्र के घर में दबिश दी। जहां राजेंद्र मंडप में हल्दी लगाकर बैठा था। मंडप के बाद राजेंद्र की बारात भितरवार के गोहिंदा गांव में जाने वाली थी। गौरतलब है कि राजेन्द्र ने 2012 में भूरी बाई से शादी की थी। कुछ समय से पति-पत्नी के बीच मनमुटाव चल रहा था, पत्नि मायके रह रही थी। लेकिन शनिवार को को राजेंद्र फिर से शादी रचाने जा रहा था। पुलिस ने राजेंद्र को गिरफ्तार कर हवालात में पहुंचा दिया। हालांकि पुलिस को देख राजेन्द्र ने भागने की प्रयास किया लेकिन वो सफल नहीं हो सका।  भूरी बाई का कहना है कि राजेन्द्र की रोज रोज की मारपीट से तंग आकर उसे छोड़कर अपने मायके में माता पिता के साथ रहने लगी थी। लेकिन जैसे ही दूसरी शादी की जानकारी लगी तो थाने जाकर पुलिस से शिकायत की। इस मामले में दूल्हे की गिरफ्तारी के बाद सिटी थाने पर शादी में आए राजेन्द्र के रिश्तेदारों का भी जमावड़ा लगा रहा। उधर राजेन्द्र का कहना था कि में भूरी बाई से तलाक ले चुका हूं। पर  वो पुलिस को तलाक के कोई दस्तावेज नहीं दिखा सका।