दुर्ग. छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिला अस्पताल में एक महिला ने 2 सिर वाले बच्चे को जन्म दिया. बीते 22 अप्रैल को डॉक्टर ने महिला का सफल ऑपरेशन किया, लेकिन बच्चा मृत पैदा हुआ. बताया जा रहा है कि गर्भ में ही बच्चे की धड़कन थम चुकी थी. सोनोग्राफी रिपोर्ट में इसकी पुष्टि होने के बाद डॉक्टर ने अचानक महिला की डिलीवरी करवाई. महिला की हालत सामान्य बताई जा रही है. ऑपरेशन के बाद उन्‍हें जज्चा-बच्चा वार्ड में भर्ती कराया गया है.

जिला अस्पताल से मिली जानकारी के मुताबिक, गर्भ के सातवें महीने में तकलीफ बढ़ने पर निकुम के आम्टी गांव निवासी 24 वर्षीय महिला को परिजनों ने हॉस्पिटल में भर्ती कराया था. चिकित्सकों ने चेकअप किया तो बच्चे की धड़कन नहीं मिली. इसके बाद पूर्व में कराई गई सोनोग्राफी रिपोर्ट की भी जांच की गई. इसमें जुड़वां बच्चे होने का जिक्र था. धड़कन नहीं मिलने पर ऑन ड्यूटी डॉक्टर ममता पांडेय ने महिला का तत्काल सीजर करने का फैसला किया.

दो सिर और एक धड़ वाला बच्‍चा
डॉक्टर से मिली जानकारी के मुताबिक, सीजर कर बच्चे को बाहर निकला गया. बच्चे का दो सिर और एक धड़ देख डॉक्‍टरों की टीम चौंक गई. बच्चे की गर्भ में ही मौत हो गई थी. कागजी कार्रवाई के बाद डॉक्टर ने बच्चे को उसके पिता को सौंप दिया. इसके बाद प्रसूती सर्जिकल वार्ड में शिफ्ट कर दी गई. प्रसूता की हालत खतरे से बाहर है. स्वास्थ्य कारणों से उसे अभी अस्पताल में ही भर्ती कराया गया है.