भोपाल. मध्य प्रदेश जेल विभाग (Madhya Pradesh Jail Department) में एक मृत प्रहरी रशीद खान (Rashid Khan) का ट्रांसफर किए जाने को लेकर भोपाल के कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद (MLA Arif Masood) ने जेल मंत्री नरोत्तम मिश्रा को चिट्ठी लिखी है. आरिफ मसूद ने डीजी जेल संजय चौधरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है. सोशल मीडिया पर जेल विभाग का एक ट्रांसफर ऑर्डर वायरल हो रहा है. इसी ट्रांसफर ऑर्डर (Transfer Order) को सही बताते हुए आरिफ मसूद का आरोप है कि विभाग ने 9 सितंबर को 10 प्रहरियों का ट्रांसफर कर नवीन पदस्थापना दी थी. इसमें 6 नंबर पर रशीद खान का नाम है, जबकि रशीद खान की तीन महीने पहले मौत हो चुकी है. उसके बाद भी ट्रांसफर लिस्ट जारी कर उनका नाम दर्ज किया गया.

भ्रष्टाचार का लगाया आरोप

आरिफ मसूद ने जेल विभाग में ट्रांसफर पोस्टिंग के नाम पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है. उन्होंने जेल डीजी संजय चौधरी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जेल विभाग प्रहरियों के ट्रांसफर के नाम पर भारी भ्रष्टाचार कर रहा है. इसी के चलते मृत व्यक्ति का भी ट्रांसफर कर दिया जा रहा हे. उन्होंने आरोप लगाया कि संजय चौधरी, जिनका भ्रष्टाचार से पुराना नाता रहा है.

चौधरी पर पहले भी लगा चुके हैं आरोप
विधायक आरिफ मसूद तत्कालीन कमलनाथ सरकार के दौरान भी जेल डीजी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा चुके हैं, जब संजय चौधरी खेल डायरेक्टर थे. उस दौरान घोटाले और गड़बड़ी का गंभीर आरोप लगाते हुए मामले को सदन में उठाया था. इस मामले में सदन ने संज्ञान लेते हुए पूरे मामले की जांच के लिए एक कमेटी गठित की थी. आरिफ मसूद का कहना है कि सदन की इस कमेटी के गठन होने के बावजूद भी संजय चौधरी को पद से नहीं हटाया गया. वह आज भी अपने पद पर डटे हुए हैं और जेल विभाग में जमकर भ्रष्टाचार कर रहे हैं.