दिल्ली पुलिस ने एक कारोबारी और उसके दोस्त की हत्या के आरोप में शुक्रवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने गुरुवार देर रात कारोबारी सुरेंद्र गुप्ता और उनके दोस्त अमित गोयल को मृत पाया था। इस डबल मर्डर का मुख्य आरोपी कारोबारी संदीप जैन मृतक सुरेंद्र गुप्ता का रिश्तेदार है।


सुरेंद्र गुप्ता का शव दिल्ली के अशोक विहार की एक फैक्ट्री में मिला, जबकि उनके दोस्त का शव वजीराबाद में एक कार के अंदर पड़ा मिला था। पुलिस के अनुसार, 20 लाख रुपये के लेन-देन को लेकर इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया है। संदीप जैन पर मृतक सुरेंद्र गुप्ता का 20 लाख रुपये बकाया हैं।

पुलिस को शुरुआत में अमित गोयल का शव सुरेंद्र गुप्ता की कार में मिला था। इस मामले में जांच के दौरान पुलिस ने जब गुप्ता के परिवार से पूछताछ की, जो उन्हें जैन तक ले गई। गुप्ता के परिवार ने पुलिस को बताया किया कि दोनों संदीप जैन के घर रुपये लेने गए थे और वहां से वापस नहीं लौटे।

इसके बाद पुलिस ने संदीप जैन को संदेह के आधार पर हिरासत में ले लिया था। धीरे-धीरे कड़ी पूछताछ में उसने अपने दो साथियों की मदद से सुरेंद्र गुप्ता और अमित गोयल की अपनी फैक्ट्री में हत्या करने की बात स्वीकार कर ली।


आगे उसने बताया कि गोयल के शव को बोरे में डालकर गुप्ता की कार में रखा गया था, जिसे वह (जैन) चलाकर वजीराबाद ले गया, जबकि गुप्ता का शव उसकी फैक्ट्री में पड़ा था। मुख्य आरोपी के इस कबूलनामे के बाद डबल मर्डर में शामिल कारोबारी संदीप जैन के दोनों साथियों को भी गिरफ्तार कर लिया गया।