राजद प्रमुख लालू यादव की बहू ऐश्वर्या शुक्रवार दोपहर राबड़ी देवी के आवास से रोती हुई निकलीं। तेज गति से चलते हुए ऐश्वर्या आंसू पोंछते हुए बाहर आईं और पिता की कार में बैठ कर चली गईं। जिस तरह ऐश्वर्या आवास से बाहर आईं इससे लगता है कि रिश्ते में खटास और बढ़ गई है।
भले ही तेजप्रताप की तलाक याचिका अदालत के समक्ष लंबित है लेकिन उनकी पत्नी को अपने ससुराल वालों के घर पर बहुत वक्त बिताते देखा गया है जो उनके पिता राजद विधायक चंद्रिका राय के घर से कुछ ही दूरी पर है।

हालांकि शुक्रवार दोपहर को राबड़ी देवी के 10, सर्कुलर रोड स्थित आवास पर पहुंचने के एक घंटे बाद उन्होंने अपनी कार को वापस बुला लिया। कुछ मिनट बाद ऐश्वर्या को तेज कदमों से घर से बाहर निकलते हुए और दुपट्टे से आंसू पोंछते हुए वहां से जाते हुए देखा गया।

टीवी समाचार चैनलों ने उन्हें हाथ में कई बैग लेकर कार की तरफ जाते और उसमें बैठ कर वहां से जाते हुए दिखाया। दोनों ही परिवार के करीबी लोगों ने घटना पर चुप्पी साधे रखी। उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि यह निजी मामला है।

तेजप्रताप यादव ने शादी के छह महीने बाद ही पिछले साल मई में तलाक की अर्जी दायर की थी। यादव के इस फैसले पर उनके परिवार ने कड़ी आपत्ति जताई थी जो ऐश्वर्या के साथ खड़े थे।

ऐश्वर्या ने दिल्ली से मैनेजमेंट में स्नातक किया है और उनके दादा दिवंगत दरोगा प्रसाद राय 1970 के दशक में बिहार के मुख्यमंत्री रहे थे।

चारा घोटाला मामलों में रांची में जेल की सजा काट रहे लालू द्वारा अपने बेटे को तलाक की अर्जी वापस लेने के लिए रजामंद करने के कई प्रयासों का भी कोई नतीजा नहीं निकला।

बताया जा रहा है कि ऐश्वर्या तेजप्रताप के द्वारा तलाक की अर्जी देने के बाद भी पिछले काफी समय से राबड़ी आवास में ही रह रही थीं। जबकि तेजप्रताप इसी वजह से अपनी मां के घर में नहीं रहते हैं।