भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल की आठ वर्षीय नन्हीं बच्ची तनिष्का के सपनों को साकार करने की जिम्मेदारी 'मामा' के रूप में संभाली है। तनिष्का के पापा को खो देने की दुखद खबर मुख्यमंत्री को जैसे ही मिली, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने तत्काल कार्यवाही करते हुए तनिष्का के परिवार को दो लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विपदा की इस घड़ी में सरकार सोनी परिवार के साथ है। परिवार को हर संभव सहायता की जायेगी। परिवार की सुरक्षा के साथ मेरी भांजी तनिष्का के सपनों को साकार किया जाएगा।

तनिष्का के पिता योगेन्द्र सोनी डायल 100 में कार्यरत थे। श्री सोनी परिवार के सदस्य कोविड-19 से संक्रमित हो गये थे, जिनका उपचार किया जा रहा था। श्री सोनी को भी क्वारेंटाइन किया गया था। उनकी रिपोर्ट निगेटिव आयी थी। श्री सोनी की मृत्यु किडनी फेल्योर के कारण होने से पूरे परिवार में संकट छा गया। डायल 100 संचालित करने वाली कम्पनी बी.वी.जी. के पदाधिकारी और रेडियो हेडक्वाटर के अधिकारियों ने प्रभावित परिवार से सम्पर्क कर तात्कालिक रूप से 20 हजार की आर्थिक सहायता प्रदान की।

बी.वी.जी. कम्पनी द्वारा श्री सोनी के परिवार को पी.एफ. की राशि 55 हजार रूपये, ई.एस.आई.सी. की राशि 70 हजार रूपये और मासिक पेंशन 4 हजार रूपये स्वीकृत किये गये, जिसका भुगतान शीघ्र ही किया जाएगा। पुलिस प्रशासन द्वारा स्वर्गीय श्री सोनी की पत्नी को कम्पनी में नौकरी के लिए प्रस्ताव दिया है।