इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी बिग बास्केट में पांच साल से काम कर रहे 38 वर्षीय मैनेजर मीतेश पिता कैलाश मित्तल निवासी अग्रसेन चौराहा ने बुधवार सुबह जहर खा लिया। परिजन का आरोप है कि 3 करोड़ के गबन का आरोप लगा 8 दिन से प्रताड़ित किया जा रहा था।   


 

26 जनवरी को छुट्टी के बावजूद सुबह 9 बजे बुलाया, रात 3.30 बजे छोड़ा। घर लौटकर उसने जहर खा लिया। पत्नी अस्पताल ले गई, वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मीतेश के दोस्त आबिद लोखंडवाला ने बताया कि लॉकडाउन में कई दोस्तों ने घर राशन पहुंचाने की बात कही। तब मीतेश ने ऑनलाइन बुक कराए बिना सामान देने से मना कर दिया। मकान के लिए 14 लाख का कर्ज था। वह गबन कैसे कर सकता है। ममेरे भाई अमित ने बताया कि मीतेश की 8 साल पहले शादी हुई थी। काफी मन्नतों के बाद बेटा हुआ। वह अभी काफी छोटा है।

परिजन के आरोप- ऑडिट में 5 हजार गायब होने की बात कही, फिर कहा 3 साल में 3 करोड़ का गबन हुआ है।आठ दिन से रोजाना सुबह 9 बजे मीतेश को गोदाम बुलाते और देर रात को छोड़ते। अगर कोई गबन हुआ था तो उसकी सूचना पुलिस को देते। इस तरह प्रताड़ित करने का क्या मतलब था। मंगलवार को उसे धमकाया कि घर, गाड़ी आदि के कागज लाना। उसे बेचकर कंपनी वसूल करेगी।

रूटीन पड़ताल के दौरान कुछ कर्मचारियों द्वारा कंपनी में आर्थिक धोखाधड़ी किए जाने की बात सामने आई। इसकी हमने पुलिस को शिकायत की है। आंतरिक जांच में पता चला कि मीतेश इसमें शामिल थे, जिससे कंपनी को आर्थिक नुकसान हुआ।