शारजाह । किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ 85 रनों की शानदार पारी खेलने वाले राजस्थान रॉयल्स के बल्लेबाज संजू सैमसन ने कहा कि आत्ममंथन और कड़ी मेहनत के कारण ही उन्हें यह सफलता मिली है। सैमसन ने इससे पहले के मैच में 74 रन बनाये थे। इस बल्लेबाज कहा ,‘‘ मैं एक साल से अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं और मेरा आत्मविश्वास बढा है। मैने कई चीजें आजमाई थी पर कामयाबी नहीं मिल रही थी। उसके बाद काफी आत्ममंथन किया और खूब मेहनत की।’’ सैमसन ने कहा, ‘‘मैं पिछले साल से ही अच्छी तरह से हिट कर रहा हूं। मैं बहुत अच्छी मनोदशा में हूं और अपने खेल में किसी तरह का बदलाव नहीं चाहता हूं। मैंने यह हासिल करने के लिये कड़ी मेहनत की। मैंने खुद से कहा कि मेरे पास इस शानदार खेल में 10 साल हैं और मुझे इन दस वर्षों में सब कुछ झोंक देना है।’’ वहीं राजस्थान रॉयल्स के कप्तान स्टीव स्मिथ ने भी सैमसन की तारीफ है। स्मिथ ने कहा, ‘‘वह बहुत अच्छी तरह से हिट कर रहा था। वह हर किसी पर से दबाव हटा रहा था। यहां मैदान छोटा था लेकिन उसके शॉट किसी भी मैदान पर छह रन के लिये जाते।’’ स्मिथ ने इसके साथ ही राहुल तेवतिया की एक ओवर में पांच छक्कों की आतिशी पारी की जमकर प्रशंसा करते हुए कहा कहा कि पंजाब के खिलाफ दर्ज की गयी यह जीत विशेष रही है। इस मैच में किंग्स इलेवन ने पहले बल्लेबाजी का आमंत्रण मिलने पर मयंक अग्रवाल (106) के शतक से दो विकेट पर 223 रन बनाये लेकिन रॉयल्स ने छह विकेट पर 226 रन बनाकर आईपीएल में सबसे बड़ा लक्ष्य हासिल करने का एक नया रिकार्ड भी अपने नाम किया। उसकी जीत के नायक सैमसन के अलावा तेजी से  53 रन बनाने वाले तेवतिया रहे। इस बल्लेबाज ने शेल्डन कोटरेल के एक ओवर में पांच छक्के लगाकर मैच का रुख बदल दिया। 
स्मिथ ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह जीत विशेष है। क्या ऐसा नहीं है। तेवतिया का कोटरेल के खिलाफ दिखाया गया प्रदर्शन लाजवाब था। हमने तेवतिया को जैसा नेट्स पर देखा था वही कोटरेल के ओवर में दिखा। उसने जज्बा दिखाया। उसने टाइमआउट के दौरान मुझसे कहा था कि हम अब भी जीत सकते हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘कोटरेल पर लगाये गये छक्कों से हमने वापसी की।