MP के 12 जिलों में कोरोना पर सख्ती:कल रात से भोपाल, इंदौर समेत महाराष्ट्र से लगे छिंदवाड़ा, बैतूल, खरगोन, धार और बड़वानी में नाइट कर्फ्यू की तैयारी

मप्र में कोरोना के केस बढ़ने पर मुख्ममंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को समीक्षा बैठक की थी। मुख्यमंत्री शुक्रवार को फिर बैठक करेंगे।
CM शिवराज सिंह शुक्रवार देर शाम करेंगे कोरोना की समीक्षा, बैठक में होगा फैसला

मध्य प्रदेश में कोरोना की रफ्तार फिर बढ़ने लगी है। सरकार की चिंता महाराष्ट्र से सटे जिलों को लेकर है, जहां सड़क मार्गों से सैकड़ों लोग रोजाना मध्यप्रदेश में आते हैं। इसके देखते हुए भोपाल, इंदौर के अलावा महाराष्ट्र की सीमा से लगे छिंदवाड़ा, बैतूल, खरगोन, धार, बड़वानी समेत 12 जिलों में कल रात से नाइट कर्फ्यू लगाने की तैयारी है।

मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक कि सरकार ने सभी जिलों से क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की रिपोर्ट बुला ली है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार देर शाम कोरोना की वर्तमान स्थिति की समीक्षा करेंगे, जिसमें मुख्य रूप से 12 जिलों की रिपोर्ट पर चर्चा होगी। इंदौर में बीते एक सप्ताह से 100 से अधिक केस आ रहे हैं, जबकि भोपाल में यह संख्या 50 और 100 के बीच है। इसी को देखते हुए भोपाल और इंदौर में क्राइसिस मैनेजमेंट की आपात बैठक बुलाने के साथ सख्ती की गई है। कमेटी अब 24 घंटे के अंदर इन दोनों शहरों में किस तरह की और क्या सख्ती की जा सकती है, इसे लेकर रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेज दी गई है।

गृह विभाग के मुताबिक महाराष्ट्र की सीमा से लगे 12 जिलों के लिए अलर्ट जारी किया गया है। सरकार की तरफ से सभी कलेक्टरों को क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक करने का निर्देश हैं कि महाराष्ट्र की सीमा से लगे जिलों से जो लोग प्रदेश में आ रहे हैं, उनका RT-PCR टेस्ट किया जाए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गुरुवार रात 8 बजे जनता को संबोधित करेंगे। इसमें मुख्यमंत्री कुछ जिलों में सख्ती करने के साथ ही एक मार्च से शुरू होने वाले वैक्सीनेशन को लेकर बात रख सकते हैं। फिलहाल में देश के कई राज्यों समेत मध्यप्रदेश में भी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं।

सरकार पहले ही तय कर चुकी है कि प्रदेश के किसी भी जिले में लॉकडाउन नहीं किया जाएगा। मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता से कोरोना को लेकर जारी गाइड लाइन का पालन करने की अपील करेंगे। मुख्यमंत्री ऐसे करीब 18 बिंदुओं पर बात रखेंगे।