भोपाल : सहकारिता एवं लोकसेवा प्रबंधन मंत्री श्री अरविन्द भदौरिया ने मंगलवार को मंत्रालय में पदभार ग्रहण करने के तत्काल बाद सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की परिचयात्मक बैठक ली। बैठक में मंत्री श्री भदौरिया ने सहकारिता विभाग के कार्यों व गतिविधियों के संबंध में जानकारी लेते हुए अधिकारियों को निर्देश दिये कि सहकारी संस्थाओं में गबन व धोखाधड़ी करने वाले समिति प्रबंधकों के विरुद्ध ऐसी कड़ी कार्यवाही हो जो दूसरो के ‍िलये नजीर बने।

मंत्री श्री भदौरिया ने कहा कि सिस्टम में हर स्तर पर पारदर्शिता से काम किये जाये। ऐसे प्रावधान किये जाएं ताकि गडबड़ी की गुंजाईश न हो। उन्होंने हरदा जिले में चना उपार्जन में समिति प्रबंधक द्वारा अनियमितता बरतने के मामले को गंभीरता से लेते हुए कठोर वैधानिक कार्यवाही के निर्देश दिये। आयुक्त सहकारिता श्री आशीष सक्सेना ने विभाग की गतिविधियों से अवगत कराते हुए बताया कि विभाग द्वारा संस्थाओं के पंजीयन व अंकेक्षण से संबंधित कार्य किया जाता है। संस्थाओं के प्रशासकीय नियंत्रण एवं नियमन के लिये नियम बनाने के साथ ही अन्य कार्य भी विभाग द्वारा सम्पादित किये जाते हैं। विभाग द्वारा एकीकृत सहकारी विकास परियोजनाएँ भी संचालित की जा रही हैं। इसके अलावा संस्थाओं के माध्यम से कृषि ऋण उपलब्ध कराने व खाद्य विभाग के अन्तर्गत खाद्यान्न उपार्जन से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य सहकारिता विभाग द्वारा सम्पादित किये जाते हैं।

मंत्री श्री भदौरिया ने मार्कफेड व बीज संघ की गतिविधियों की भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग से समन्वय कर ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करें, जिससे किसानों को गुणवत्तापूर्ण बीज व उर्वरक उपलब्ध हो। उन्होंने नकली बीज व उर्वरक विक्रय करने वाली संस्थाओं के विरुद्ध भी सख्त कार्यवाही के निर्देश दिये। बैठक में दुग्ध संघ, लघु वनोपज संघ, मत्स्य उत्पादन संघ की गतिविधियों से अवगत कराया गया। बैठक में अपर आयुक्त सहकारिता श्री अरूण माथुर, संयुक्त आयुक्त श्री अरविन्द सेंगर, सचिव विपणन संघ श्री पी.एस. तिवारी, उप सचिव सहकारिता श्री मनोज सिन्हा मौजूद थे।