पर्यटक 28 अक्टूबर से 1 नवंबर तक Statue of Unity का दीदार नहीं कर पाएंगे।राष्ट्रीय एकता दिवस के उपलक्ष्य पर स्टैच्यू ऑफ यूनिटी 5 दिनों के लिए बंद रहेगा। राष्ट्रीय एकता दिवस 31 अक्टूबर को है। यह हर साल 31 अक्टूबर को देशभर में मनाया जाता है। इस दिन सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्म हुआ था। सरदार वल्लभ भाई पटेल ने देश की एकता और अखंडता को स्थापित करने में अहम भूमिका निभाई थी।

इतिहासकारों की मानें तो आजादी पश्चात भारत कई टुकड़ों में बंटा था। सरदार पटेल ने टुकड़ों को एकत्र कर अखंड भारत का निर्माण किया है। आज भारत की सीमा कश्मीर से लेकर गोवा तक फैली है। यह श्रेय वल्लभ भाई पटेल को जाता है। उनके सम्मान में गुजरात के सरदार सरोवर बांध से एक कोस दूर पर Statue of Unity स्थित है। यह स्मारक देश को समर्पित है। इसका निर्माण साल 2018 में हुआ था। वहीं, पीएम श्री नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर, 2018 को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का उद्घाटन किया था। उस समय से हर साल राष्ट्रीय एकता दिवस पर वल्लभ भाई पटेल को श्रद्धा सुमन अर्पित कर याद किया जाता है।

इस मौके पर देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी सरदार पटेल को श्रद्धा सुमन अर्पित करने केवडिया जाएंगे। फ़िलहाल आधिकारिक रूप से इसकी घोषणा नहीं हुई है। हालांकि, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को बंद करने की घोषणा कर दी गई है। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। हर साल बड़ी संख्या में पर्यटक स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का दीदार करने गुजरात जाते हैं। हालांकि, 28 अक्टूबर से 1 नवंबर तक 5 दिनों तक बंद रहेगा। इस दौरान पर्यटक स्टैच्यू ऑफ यूनिटी का दीदार नहीं कर सकते हैं। धनतेरस के दिन से पर्यटकों के लिए स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को खोला जाएगा। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी की लंबाई 597 फीट है। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति है।