अहमदाबाद | गुजरात सरकार ने अपने अधिकारी, कर्मचारी और पैंशनरों को आज दिवाली गिफ्ट दी है| आर्थिक संकट के बावजूद राज्य सरकार के 9 लाख से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी और पैंशनरों को महंगाई भत्ते की बकाया एरियर्स में 50 प्रतिशत एरियर्स का लाभ देगी| यह घोषणा करते हुए उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि राज्य सरकार और पंचायत के कर्मचारी और पैंशनरों समेत कुल 961638 कर्मचारियों का इसका लाभ मिलेगा| इस फैसले से राज्य सरकार पर रु. 464 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा| उप मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के 9 लाख से ज्यादा अधिकारी, कर्मचारी और पैंशनरों को 1 जुलाई 2019 से 5 प्रतिशत महंगाई भत्ता देने का फैसला किया था और यह भत्ता जनवरी 2020 से प्रति माह वेतन के साथ भुगतान किया जा रहा है| 1 जुलाई 2019 से 31 दिसंबर 2019 तक 6 महीने का महंगाई भत्ते की रकम राज्य के कर्मचारी और पैंशनरों को भुगतान करना बाकी है| नितिन पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के साथ परामर्श के बाद अधिकारी, कर्मचारी और पैंशनर दीपावली हर्षोल्लास के साथ मना सकें, इसके लिए महंगाई भत्ते की बकाया रकम सातवें और छठवें वेतन आयोग का लाभ पाने वाले राज्य सरकार और पंचायत समेत अन्य ग्रांटेबल संस्थाओं के अधिकारी, कर्मचारी और पैंशनरों को दीपावली से पहले भुगतान करने का फैसला किया गया है| इस फैसले से राज्य सरकार पर रु. 464 करोड़ का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा| राज्य सरकार के 511129 जितने कर्मचारी और 450509 पैंशनरों को इसका लाभ मिलेगा| इसके अलावा राज्य सरकार ने चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों को रु. 3500 बोनस देने का फैसला किया है| इसका लाभ 30960 कर्मचारियों को मिलेगा|