इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आयोजन को लेकर अब तक संशय व्याप्त है हालांकि बीसीसीआई और खिलाड़ी इसे आयोजित किये जाने के पक्ष में नजर आते हैं। भारतीय ही नहीं विदेशी खिलाड़ी भी आईपीए को लेकर उत्सुक हैं। आईपीएल के लिए इतनी ज्यादा बेसब्री का कारण व्यसायिक हित भी हैं। इससे खिलाड़ियों और टीमों को मोटी कमाई होती है इसके अलावा बोर्ड को भी प्रसारण अधिकारों से अच्छी खासी रकम मिल जाती है। कोरोना वायरस माहामारी के बाद से ही खेल मुकाबले बंद होने से बीसीसीआई सहित सभी संगठन परेशान हैं और वे किसी भी प्रकार इस प्रतियोगिता का आयोजन चाहते हैं। यहां तक कि विदेशों में तटस्थ स्थल पर खेलने के लिए भी तैयार हैं। यह भी माना जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप होना संभव नहीं है और उस समय में आईपीएल खेला जा सकता है। 
विदेश में भी हो सकता है आईपीएल : बृजेश पटेल  
वहीं देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए आईपीएल के अध्यक्ष बृजेश पटेल ने कहा है कि आईपीएल विदेश में भी आयोजित किया जा सकता है, क्योंकि खाली स्टेडियम में मैच होने से ये कहां हो रहे हैं उससे अंतर नहीं पड़ता। पटेल ने कहा, ‘हम सितंबर-अक्टूबर की विंडो देख रहे हैं पर यह एशिया कप और टी20 विश्व कप के आयोजन पर निर्भर करता है। इसके साथ ही हमें उस समय के सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार चलना होगा।’
एशिया कप सितंबर में और टी20 विश्व कप अक्टूबर-नवंबर में होना है पर दोनों टूर्नामेंट पर अंतिम फैसला अभी तक नहीं हुआ है। आईसीसी ऑस्ट्रेलिया में होने वाले विश्व कप पर फैसला अगले महीने करेगा। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और श्रीलंका ने आईपीएल की मेजबानी में दिलचस्पी दिखायी है। इन देशों में कोरोना के काफी कम मामले हैं। 
पटेल ने कहा, ‘भारत में इसके कराने को निश्चित रूप से वरीयता दी जाएगी लेकिन काफी कुछ उस समय के हालात पर निर्भर करेगा। श्रीलंका ने इसकी मेजबानी की पेशकश की है और यूएई ने भी, हम देखेंगे कि हम कहां खेल सकते हैं।’ इससे पहले साल 2009 में आईपीएल मुकाबले दक्षिण अफ्रीका में हुए और साल 2014 में टूर्नमेंट का कुछ हिस्सा यूएई में आयोजित किया गया था।
आईपीएल अगर आयोजित नहीं होता है तो बीसीसीआई को 4000 करोड़ रुपये का नुकसान होने की आशंका है। ऐसे में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने भी कहा कि बोर्ड आईपीएल के आयोजन के लिए सभी विकल्प खोज रहा है। गांगुली ने भी बोर्ड की मान्यता प्राप्त इकाइयों को ताजा सूचना में टूर्नमेंट के खाली स्टेडियम में कराने की बात कही है। पटेल ने कहा, ‘हम टूर्नमेंट को सामान्य कार्यकाल में कराना चाहते हैं लेकिन यह बात फिर इस पर निर्भर करेगी कि एशिया कप और विश्व कप में से कौन सा टूर्नांमेंट कौन स्थगित होगा।’ उन्होंने कहा, ‘आईपीएल बोर्ड, प्रायोजकों, प्रसारकों और खिलाड़ियों के लिए अहम मुकाबला है। हर कोई चाहता है कि यह आयोजित हो। वहीं खिलाड़ी भी मैदान पर खेलने के लिए बेसब्र हैं।’ 
फ्रैंचाइजियों ने कहा, आईपीएल हुआ तो रिकार्ड दर्शक मिलेंगे 
आईपीएल फ्रैंचाइजियां ने बीसीसीआई से कहा है कि वह आईपीएल के आयोजन की योजनाओं को लेकर अपनी स्पष्ट जानकारी दे। फ्रैंचाइजियों के अनुसार वे जानना चाहती हैं कि यह टूर्नामेंट पूरा खेला जाएगा या इसके मैचों की संख्या कम होगी। इसके अलावा यह स्वदेश में होगा या विदेशी धरती पर खेला जाएगा। वहीं इसके साथ ही फ्रैंचाइजियों का यह भी मानना है कि अगर इस प्रतिष्ठित लीग का आयोजन हुए तो टीवी पर इसे रेकॉर्ड दर्शक मिलेंगे। 
इस बारे में किंग्स इलेवन पंजाब के सह मालिक नेस वाडिया ने कहा, ‘मौजूदा स्थिति को देखते हुए 16 टीमों के साथ टी20 विश्व कप के आयोजन को लेकर काफी परेशानियां हैं। आईपीएल का आयोजन भी आसान नहीं होगा। इसका आयोजन ऐसे स्थान पर होना चाहिए जहां मैदान के अंदर और बाहर दोनों जगह उपयुक्त बुनियादी ढांचा हो।’ वहीं कोलकाता नाइट राइडर्स के मुख्य कार्यकारी वेंकी मैसूर ने पिछले हफ्ते लीग के प्रारुप में किसी बदलाव को लेकर विरोध दर्ज कराया था पर आईपीएल के सभी हितधारक इससे सहमत नहीं हैं।
कोरोना महामारी से जुड़ी स्थिति को देखते हुए उन्हें छोटे टूर्नामेंट के आयोजन में भी कोई दिक्कत नहीं है, मैसूर ने हालांकि कहा था कि वह सभी आठ टीमों की ओर से बोल रहे हैं। बीसीसीआई ने अब तक टूर्नामेंट के आयोजन पर जोर दिया है लेकिन विस्तार से कुछ नहीं बताया है।
वाडिया ने कहा, ‘ कम मैचों वाले टूर्नामेंट के साथ भी हमें कोई समस्या नहीं है। आईपीएल ने टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर काफी लचीलापन दिखाया है और कोविड-19 के दौरान भी हमें इस स्थिति को बरकरार रखना होगा। 2009 में हमने सिर्फ एक महीने में टूर्नामेंट का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में किया था।’ भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़ रहे हैं और ऐसे आईपीएल का विदेश में आयोजन भी एक विकल्प है। टूर्नामेंट की 2014 में आंशिक रूप से मेजबानी करने वाले यूएई और श्रीलंका ने भी इसके आयोजन की पेशकश की है।