अयोध्या । अयोध्या में राम मंदिर की नींव 20 सितंबर तक तैयार हो जाएगी। खबर आ रही है मंदिर परिसर के फाइनल डिजाइन में थोड़ा परिवर्तन किया गया है। अब गर्भगृह के परिक्रमा मार्ग पर 6 देवी-देवताओं के छोटे-छोटे मंदिर भी बनेंगे। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्र ने सोमवार को बताया कि परिक्रमा मार्ग पर भगवान ब्रह्मा, विष्णु, महेश, सूर्य, गणेश जी और देवी दुर्गा के मंदिर बनेंगे। सभी मंदिर राम मंदिर की परिधि में आएंगे। डॉ. अनिल मिश्रा ने कहा कि ट्रस्ट ने मंथन किया कि धार्मिक मान्यताओं में प्रभु राम के साथ इन देवी-देवताओं का भी पूजन किया जाता है। इस वजह से इन्हें बनवाने का फैसला हुआ है। उन्होंने बताया कि नींव की लेयर में भी परिवर्तन किया गया है। अब 300गुणा400 फुट की नींव पर फिल्ड मटीरियल की 44 की जगह 48 लेयर ढाली जाएंगी। 20 सितंबर तक नींव तैयार हो जाएगी।
डॉ. मिश्र ने बताया कि नींव के प्लैटफार्म के ऊपर 2.50 मीटर मोटी राफ्ट प्रस्तावित थी। अब इसे कम कर डेढ़ मीटर कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 10 नवंबर से परकोटे व पत्थर से प्लिंथ का काम शुरू हो जाएगा। इसमें मिर्जापुर से मंगाए गए करीब 4 लाख घनफुट पत्थर लगेंगे। 
उधर, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और आप नेता मनीष सिसोदिया ने पार्टी सांसद संजय सिंह के साथ सोमवार को अयोध्या में रामलला, हनुमान गढ़ी और माता सीता के दर्शन किए। इस मौके पर सिसोदिया ने कहा कि अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में आप सरकार दिल्ली में जो काम कर पा रही है, वह भगवान राम की कृपा व संतों के आशीर्वाद के चलते ही संभव हुआ है। चुनावी बिगुल फूंकते हुए आप अयोध्या में मंगलवार को तिरंगा यात्रा निकाल रही है।