वास्तु से लेकर फेंगशुई तक में नींद को लेकर कई बातों का ध्यान रखने को कहा गया है। फेंग शुई के अनुसार कभी भी दरवाजे के सामने नहीं सोना चाहिए। यह मौत का परिचायक माना जाता है। आज हम आपको बताएंगे कि किस दिशा में सोना चाहिए और किस दिशा की तरफ सिर और किस दिशा में पैर करने चाहिए और गलत दिशा में सोने पर क्या नकारात्मक प्रभाव हो सकते है।

दरवाजे के सामने सोना:

फेंग शुई के अनुसार कभी भी दरवाजे के सामने नहीं सोना चाहिए। यह मौत का परिचायक माना जाता है। यही वजह है कि चीन में मृत व्यक्ति के शव को दरवाजे पर ही रखा जाता है। इस बात से आप समझ सकते हैं कि आखिर क्यों नींद को लेकर वास्तु से लेकर फेंगशुई तक में कई बातों का ध्यान रखने को कहा गया है।

नींद से जुड़ी कुछ खास बातें:

शास्त्रों में संध्या के वक्त, खासकर गोधूलि बेला में सोने की मनाही है। सोने से करीब 2 घंटे पहले ही भोजन कर लेना चाहिए। सोने से ठीक पहले कभी भी भोजन नहीं करना चाहिए।

अगर बहुत जरूरी काम न हो तो रात में देर तक नहीं जागना चाहिए। जहां तक संभव हो, सोने से पहले चित्त शांत रखने की कोशि‍श करनी चाहिए।

सोने से पहले प्रभु का स्मरण करना चाहिए और इस अनमोल जीवन के लिए उनके प्रति आभार जताना चाहिए।