लाहौर । पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) पर गंभीर आरोप लगाया है। अख्तर ने कहा है कि अपनी गलत नीतियों से आईसीसी ने पिछले दस साल के अंदर क्रिकेट को बेहद नुकसान पहुंचाया है। शोएब ने कहा कि एकदिवसीय क्रिकेट में कुछ ऐसे नियम बने हैं जिससे यह बल्लेबाजों का सहायक बना हुआ है। इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कमेंटेटर संजय मांजरेकर से सोशल मीडिया में बातचीत के दौरान ये बातें कहीं। मांजरेकर ने उनसे पूछा था कि सीमित ओवरों के मैच में तेज गेंदबाज धीमे हो रहे हैं और स्पिनर तेज गेंद डाल रहे हैं, इस पर आपका क्या कहना है। तब शोएब ने कहा, ‘मैं साफ-साफ कहूं । आईसीसी क्रिकेट को खत्म कर रही है। मैं खुलेआम कह रहा हूं कि आईसीसी ने पिछले दस साल में क्रिकेट को खत्म कर दिया है। बहुत खूब। जो सोचा था आपने वो किया।’
उनके अनुसार खेल को संतुलित बनाने के लिए प्रति ओवर बाउंसरों की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए क्योंकि अब दो नई गेंद हैं और सर्कल के बाहर अधिकांश समय चार ही फील्डर हैं। उन्होंने कहा कि आईसीसी से पूछिए कि पिछले दस साल में क्रिकेट का स्तर बढ़ा है या गिरा है।